वाराणसी: आर्म लाइसेंस केस में मुख्तार के करीबी मेराज अहमद का थाने में सरेंडर

Smart News Team, Last updated: 03/10/2020 01:30 PM IST
  • वाराणसी के जैतपुरा थाने के सरैया चौकी पर मऊ के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के करीबी और मुन्ना बजरंगी गैंग का सदस्य मेराज अहमद ने आर्म लाइसेंस केस में आज सरेंडर किया. 
वाराणसी: मुख्तार अंसारी के करीबी मेराज अहमद ने किया सरेंडर.

वाराणसी. मऊ के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के करीबी और मुन्ना बजरंगी गैंग का सदस्य मेराज अहमद ने सरेंडर किया. शनिवार की सुबह वह जैतपुरा थाने के सरैया चौकी पर पहुंचकर सरेंडर किया. मेराज अहमद को जैतपुरा पुलिस थाने ले जाकर पूछताछ कर रही है. बता दें कि 5 सितंबर को जैतपुरा पुलिस ने मेराज अहमद के खिलाफ शस्त्र के लाइसेंस के नवीनीकरण में फर्जीवाड़ा करने के मामले में केस दर्ज की थी. 

केस दर्ज होने के बाद से मेराज अहमद फरार चल रहा था. पुलिस की जांच में पता चला कि मेराज अहमद ने अपने चार नजदीक साथियों के साथ नदेसर के एक दूसरे पते पर भी शस्त्र लाइसेंस लिया था. 

मुख्तार गैंग से जुड़े मछली कारोबारी के खिलाफ योगी सरकार की कार्रवाई, 2 वाहन जब्त

पुलिस ने बताया कि इन लोगों की जांच में लाइसेंस के नवीनीकरण में भी फर्जीवाड़ा पाया गया है. इसी आधार पर पुलिस ने मेराज अहमद के खिलाफ केस दर्ज किया. इसके अलावा मेराज अहमद के सारे शस्त्र लाइसेंस रद्द कर दिए गए हैं. जैतपुरा पुलिस ने मेराजे के खिलाफ शस्त्र जमा करने के मामले में भी मुकदमा दर्ज किया है. बता दें कि 26 सितंबर को मेराज के भाई सिराज अहमद को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था. सिराज अहमद पर भाई को भागने का आरोप है.

मुख्तार के गुर्गों पर कार्रवाई, 11 गिरफ्तार, पिस्टल और बम बनाने का सामान बरामद

गौरतलब है कि मुख्तार अंसारी के साथियों के खिलाफ पुलिस पिछले दो महीने से कार्रवाई कर रही है. सरकार की कार्रवाई से मुख्तार अंसारी की मुश्किलें लगातार बढ़ती ही जा रही है. इससे पहले पुलिस उसके गिरोह के आर्थिक साम्राज्य पर भी चोट कर चुकी है.

 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें