दिल्ली-मुंबई से फिर बनारस लौटने लगे प्रवासी, भीड़ से बढ़ा कोरोना फैलने का खतरा

Smart News Team, Last updated: Tue, 20th Apr 2021, 4:45 PM IST
  • बेकाबू होते हालात के बिच प्रवासी लोग अपने घरों को वापस लौटने लगे हैं. लोगों को डर सता रहा है की कहीं पिछले साल की तरह इस साल भी अगर देशव्यापी लॉकडाउन लग गया तो वह या तो जहां हैं, वहां फस जायेंगे.
दिल्ली-मुंबई से फिर बनारस लौटने लगे प्रवासी, भीड़ से बढ़ा कोरोना फैलने का खतरा (फाइल फ़ोटो)

वाराणसी: पूरे देश में फैल रहे कोरोना संक्रमण और उसके वजह से बेकाबू होते हालात के बिच प्रवासी लोग अपने घरों को वापस लौटने लगे हैं. लोगों को डर सता रहा है की कहीं पिछले साल की तरह इस साल भी अगर देशव्यापी लॉकडाउन लग गया तो वह या तो जहां हैं, वहां फस जायेंगे या फिर पिछले साल की तरह उनको पैदल ही लौटना पड़ेगा, सभी महानगरों के से आने वाली बसों और ट्रेनों में मजदूर भर भर के आ रहें हैं. कहीं भी किसी तरह की कोवीड नियमों का पालन नहीं हो पा रहा है. प्रशासन लाचार है कोई इनकी सुध नहीं ले रहा है.

दिल्ली और मुंबई से वापस लौटने वालों की संख्या बढ़ने लगीं. ज्यादातर लोग अपनी निजी कार और ट्रैवेल की गाड़ियों से वापस लौट रहे हैं. दिल्ली मुंबई से वापस लौटने वाले ज्यादातर लोग रात से लेकर सुबह तक सफर कर रहे हैं. इसके बाद सीधे अपने गंतव्य को वापस लौट जा रहे हैं. 

UP में 26 अप्रैल तक रहेगी शिक्षकों और स्टाफ की छुट्टी, हाई कोर्ट ने दिया आदेश

डाफी इलाके में स्थित आधा दर्जन रेस्टोरेंट व ढाबा सत्कार, गोकुल, आहार विहार, नैन बसेरा, कालिका, तंदूर फैमली रेस्टोरेंट पर मंगलवार दोपहर में वापस लौटने वाले कोई रुका नहीं मिला. सामान्य दिनों में यहां राहगीरों का जमावड़ा लगा रहता था. पहले टोल प्लाजा पर लंबी लाइनें लगी होने के कारण लोग रेस्टोरेंटों में जाकर कुछ ना कुछ खरीदते थे लेकिन अब डाफी टोल प्लाजा पर गाड़ियों की संख्या कम होने से गाड़ियां सीधे पास हो जाती हैं. 

केंद्र का बड़ा फैसला, अब 1 मई से 18 साल से ऊपर के लोग भी लगवा सकेंगे कोरोना वैक्सीन

इन रेस्टोरेंटों कोई कर्मचारियों को छोड़कर कोई नहीं दिख रहा है. डाफी टोल प्लाजा के मैनेजर ने बताया कि दिल्ली मुंबई सहित अन्य जगहों से वापस लौटने वालों की संख्या बढ़ गई हैं. टोल प्लाजा से वापस हर जगह की लौटने वाले गड़ियों की संख्या लगभग 1200 हो गई. दिनभर में दो तीन ऑटो से भी वापस लौटते हैं. सभी बिना रुके फास्टैग सिस्टम से निकल गए.
 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें