वाराणसी : बीएचयू की इनोवेशन टीम का शिक्षा मंत्रालय ने किया चयन

Smart News Team, Last updated: Fri, 29th Jan 2021, 2:25 PM IST
  • नवाचार पर आधारित प्रतियोगिता में अव्वल आने पर केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय की इनोवेशन टीम का चयन किया है. टीम के चयन के बाद अब बीएचयू के नवप्रवर्तन परिषद से जुड़े युवा अब स्वास्थ्य और स्वच्छता से जुड़े प्रोजेक्ट तैयार करेंगे.
बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (फाइल तस्वीर)

वाराणसी : बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के छात्रों ने लीगल एड पोर्टल सैनी टाइमर और स्मार्ट एंड इको यूजर फ्रेंडली डस्टबिन तैयार किया है जो रोजमर्रा की मुश्किलों को आसान बनाने में सहायक होगा. केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय द्वारा बीएचयू की जिन तीन टीमों का चयन किया गया है उनमें पहली टीम अर्थशास्त्र विभाग में बीए तृतीय वर्ष के छात्र मनजीत कुमार ने संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय के छात्र हरि शरण द्विवेदी और मोहन कुमार के साथ मिलकर सेनीटाइम का निर्माण किया है. यह सेनिटाइम बीप साउंड वाइब्रेट अलर्ट आधारित एक सैनिटाइजर डिस्पेंसर है जो उपयोगकर्ता को निश्चित समय अंतराल में अपने हाथ को सैनिटाइज करने की याद दिलाता है. 

इसमें यूजर अपनी सुविधानुसार अलर्ट सिस्टम सेट कर सकता है. यह मुख्य रूप से दिव्यांग श्रमिक वर्ग बच्चों और वृद्धावस्था समूहों के लिए डिजाइन किया गया है. इसी तरह से कूड़े के निस्तारण और स्वच्छता से जुड़ी चुनौतियों का सामना करने के लिए स्मार्ट एंड इको यूजर फ्रेंडली डस्टबिन का निर्माण भी किया गया है. यह डस्टबिन पर्यावरण एवं धारणीय विकास संस्थान के छात्र आयुष लेपचा और भाभा यूनिवर्सिटी भोपाल के अक्षांश जाने रिमोट सिस्टम से नियंत्रित डस्टबिन बनाया है. जिसे ब्लूटूथ से संबंध कर स्मार्टफोन से संचालित किया जा सकता है. इस डस्टबिन में लगे पहिए रिमोट से निर्देश पाकर संचालित होते हैं.

वाराणसी: BSNL के खाली फ्लैट किराए पर दिए जा रहे , कर्मचारियों की कमी है कारण

इस डस्टबिन को टच लैस सिस्टम के साथ डिजाइन किया गया है. मतलब ऐसे छुए बिना ही इस में कूड़ा डाला जा सकता है. इसका सेंसर युक्त ढक्कन स्वता कूड़े के लिए खुलता और बंद हो जाता है. इस डस्टबिन के भर जाने पर इसमें लगा अलार्म सिस्टम उपयोगकर्ता को मैसेज देकर संदेश देता है. वही बीएचयू के तीसरे दल ने कानूनी सहायता और सेवा क्लीनिक के कार्यकारी निदेशक प्रोफेसर शैलेंद्र कुमार गुप्ता के मार्गदर्शन में लीगल एड पोर्टल के निर्माण का आईडिया प्रस्तुत किया है. इसमें अदालतों से केसों के बोझ को कम करने के लिए एआई आधारित मध्यस्थता और ग्राहक परामर्श शामिल किया गया है. 

इसको ऑडियो विजुअल रूप में तैयार किया गया है. इस संबंध में बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के नवप्रवर्तन परिषद संस्थान के समन्वयक डॉ मनीष अरोड़ा बताते हैं कि बीएचयू में में धावा नवाचार की कोई कमी नहीं है. विद्यार्थियों को इस सफलता पर संस्थान के अध्यक्ष प्रोफेसर श्री कृष्णा ने बधाई दी है.

वाराणसी के डीएम कौशल राज शर्मा ने बैठक में न आने पर अधिकारियों का वेतन रोका

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें