वाराणसी: रसोई गैस के लिए मोबाइल नंबर अपडेट अनिवार्य, जानें कैसे करें रजिस्टर्ड

Smart News Team, Last updated: 24/10/2020 10:33 PM IST
  • रसोई गैस उपभोक्ता तीन तरीके से नंबर अपडेट करा सकते हैं. एजेंसी पर पहुंचकर नंबर बता सकते हैं, ट्रॉलीमैन के पास एप में फीड करवाया जा सकता हैं. इसके अलावा इंडियन ऑयल वन, भारत गैस अथवा एचपी के एप को डाउनलोड कर पंजीकरण करा सकते हैं. इस नई व्यवस्था से कालाबाजारी पर रोक लगेगी.
घरेलू गैस की डिलीवरी के लिए 1 नवंबर से पहले मोबाइल नंबर अपडेट करवाना अनिवार्य होगा. 

वाराणसी. लगातार सिलेंडर बुकिंग और डिलीवरी की समस्या को देखते हुए गैस एजेंसीयों ने अब उपभोक्ता का मोबाइल नंबर अपडेट करने को कह दिया है. अगले चार दिनों में नंबर अपडेट करना होगा नहीं तो 1 नवंबर से रसोई गैस डिलीवरी करवाने में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. उपभोक्ता अपना नंबर अलग अलग तरीके से रजिस्टर्ड कर सकते हैं.

इण्डेन के जिला नोडल अधिकारी पीयूष कुमार सिंह ने बताया कि रसोई गैस उपभोक्ता के लिए नई व्यवस्था के तहत मोबाइल अपडेट करवाना जरूरी है. एक बार सॉफ्टवेयर में नंबर फीड करवा लेने के बाद बुकिंग में परेशानी नहीं होगी. रसोई गैस उपभोक्ता तीन तरीके से नंबर अपडेट करा सकते हैं. एजेंसी पर पहुंचकर नंबर बता सकते हैं, ट्रॉलीमैन के पास एप में फीड करवाया जा सकता हैं. इसके अलावा इंडियन ऑयल वन, भारत गैस अथवा एचपी के एप को डाउनलोड कर पंजीकरण करा सकते हैं. इस नई व्यवस्था से कालाबाजारी पर रोक लगेगी. इसके अलावा डिलीवरी की समस्या को भी निपटाया जा सकता है.

वृद्ध व्यक्ति की जमीन हड़पने में लगे जालसाज, पुलिस ने शुरू की जांच

खबर है कि नवंबर माह से रसोई गैस सिलेंडर की डिलीवरी तभी मिलेगा जब डिलीवरी करने आए ट्रॉलीमैन को ओटीपी बताया जाएगा. इस ओटीपी को ट्रॉलीमैन अपने मोबाइल एप पर फीड करेंगे और स्वीकृति के बाद ही सिलेंडर देंगे. आंकड़ों की बात करें तो जिले में अभी 73 हजार ऐसे रसोई गैस उपभोक्ता हैं जिनके नंबर अभी तक अपडेट नहीं हुए हैं. वहीं शहरी इलाके में ही करीब 40 हजार ऐसे उपभोक्ता हैं जिन्होंने अपना नंबर अपडेट नहीं करवाया है.

 वाराणसी: चलती स्कूटी से चाइनीज मंझे की चपेट में आया युवक, गर्दन की नस कटी

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें