वाराणसी : बजट लागू होने से पहले ही मोबाइल उत्पाद की कीमतों में उछाल

Smart News Team, Last updated: 06/02/2021 04:52 PM IST
  • केंद्र सरकार की ओर से लाए गए आर्थिक बजट 2021 के लागू होने से पहले ही काशी के मोबाइल बाजार में आर्थिक बजट के अनुसार कीमतों को लागू कर मुनाफाखोरी शुरू हो गई है. मोबाइल कारोबारी भी मोबाइल उत्पादों में कीमतें वृद्धि को लेकर असमंजस में है.
बजट लागू होने से पहले ही मोबाइल उत्पाद की कीमतों में उछाल (प्रतीकात्मक तस्वीर)

वाराणसी : आर्थिक बजट 2021 में केंद्र सरकार की ओर से इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों कि कस्टम ड्यूटी में वृद्धि की गई है. इससे आगामी एक अप्रैल 2021 से लागू होने वाले इस आर्थिक बजट के बाद इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों समेत मोबाइल उत्पादों की कीमतों में वृद्धि होना तय है. लेकिन वाराणसी के मोबाइल बाजार में बजट पेश होने के दूसरे दिन से ही मुनाफाखोरी का दौर शुरू हो गया है. मोबाइल बाजार के बड़े कारोबारियों ने आर्थिक बजट 2021 में किए गए प्रावधानों के आधार पर मोबाइल व एसएस सीरीज के दाम बजट पेश होने के साथ ही बढ़ा दिए हैं. 

इन कारोबारियों ने 4G और 5G सीरीज के मोबाइल के दाम तो बनाए ही हैं साथ ही मोबाइल कवर ब्लूटूथ हेडफोन टेंपल ग्लास आदि एसेसरीज के दामों में भी 30 फ़ीसदी तक की वृद्धि कर दी है. इससे ग्राहक तो आश्चर्यचकित हैं ही साथ ही मोबाइल व मोबाइल एसेसरीज के छोटे कारोबारी भी मोबाइल उत्पादों में कीमत बढ़ने से असमंजस की स्थिति में है. मोबाइल बाजार के बड़े कारोबारी दिल्ली से माल महंगा मिलने की बात कह रहे हैं. जबकि हकीकत यह है कि आर्थिक बजट 2021 में इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों समय मोबाइल एसेसरीज पर कस्टम ड्यूटी में वृद्धि किए जाने से मोबाइल कीमतों में वृद्धि होगी.

वाराणसी : वंदे भारत के स्थान पर 31 मार्च तक तेजस एक्सप्रेस चलाएगा रेलवे बोर्ड

इसी को लेकर मुनाफाखोरी करने के लिए मोबाइल एसेसरीज और मोबाइल का स्टॉक किया जा रहा है. आईटी बाजार के विशेषज्ञों का कहना है कि इस समय मुनाफाखोरी के लिए ज्यादातर दुकानदार स्टाक जमा कर रहे मोबाइल चार्जर डाटा केबल कनेक्टर हेडफोन मोबाइल कवर ब्लूटूथ टेंपल ग्लास आदि एसेसरीज का बड़े कारोबारी स्टॉक करने में लगे हुए हैं. इस कारण इन कारोबारियों की ओर से मोबाइल उत्पादों और एसेसरीज में अभी से वृद्धि की गई.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें