सौहार्द की मिसाल, दिवाली पर घर रोशन करेंगे मुस्लिम महिलाओं के हाथ से बने दीये

Smart News Team, Last updated: Fri, 6th Nov 2020, 11:24 PM IST
  • वाराणसी में दीपावली के लिए मुस्लिम महिलाएं मिट्टी और गोबर से राम दीपक बनाकर सौहार्द फैला रही हैं. ये दीपक मुस्लिम महिलाएं हिंदू परिवारों को अपने हाथों से देंगी.
वाराणसी में मुस्लिम महिलाएं दीपावली के लिए राम दीपक बना रही हैं.

वाराणसी. दीपावली के लिए वाराणसी की कुछ मुस्लिम महिलाएं दीपक बनाकर एकता और सौहार्द लाने की  पहल की. ये महिलाएं राम दीपक बना रही हैं. इन दीपकों को मुस्लिम महिलाएं हिंदू परिवारों को अपने हाथों से बांटेगी. इन महिलाओं ने कहा कि इस्लामी कट्टरपंथियों की हिंसा का जवाब काशी की महिलाओं ने सौहार्द का दीपक बनाकर दिया है.

वाराणसी में मुस्लिम महिला फाउंडेशन और विशाल भारत संस्थान के संयुक्त तत्वाधान में मुस्लिम महिलाएं श्री इन्द्रेश आश्रम लमही में दीपावली के लिए मिट्टी और गोबर सेे विशेष रामदीपक तैयार कर रही है. चाइना के झालर का बहिष्कार का संदेश देने वाली मुस्लिम महिलाएं हर रोज सैकड़ों दीपक तैयार कर रही हैं. ये महिला हिंदू परिवारों को अपने हाथों से दीपक वितरत करेंगी.

वाराणसी: शादी में दुल्हे को आया मिर्गी का दौरा, दुल्हन की विदाई रूकी

मुस्लिम महिला फाउंडेशन की नजमा परवीन ने कहा कि प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी दीपावली के अवसर पर भगवान श्रीराम की आरती मुस्लिम महिलाओं की द्वारा की जाएगी. हम शांति और सौहार्द की वकालत करते रहेंगे. वहीं सदर नाजनीन अंसारी ने कहा कि नफरत का अंधेरा चाहे कितना गहरा हो, दीपक का मामूली प्रकाश भी अंधेरे को खत्म करने की ताकत रखता है. जहां भी राम दीपक जलेगा, हिंसा और नफरत खत्म होगी.

पेंशनरों को घर बैठे मिलेगा जीवित प्रमाण पत्र, नहीं लगाने होंगे डाकघरों के चक्कर

श्री इंद्रेश आश्रम के पीठाधीश डाॅ. राजीव ने कहा कि राम के प्रति आस्था परिवार, समाज और देश को जोड़ने का काम करती है. राम विश्व के समस्त देशों के निवासियों के पूर्वज हैं इसलिए सभी देशों को अपने देश में राम संस्कृति को अपनाना चाहिए. तभी पूरा विश्व शांति की तरफ जाएगा.
 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें