वाराणसी: जिला जेल से लगातार मोबाइल फोन मिलने का सिलसिला जारी

Smart News Team, Last updated: Mon, 9th Nov 2020, 3:25 PM IST
जिला जेल से लगातार मिल रहे मोबाइल फोन. बीते दिनों जेल से रंगदारी मांगने तक के मुकदमे दर्ज हुए हैं. जेल प्रशासन और स्थानीय थाना पुलिस भी जेल से मोबाइल फोन बरामदगी को गंभीरता से नहीं लेती. एक-दो नामजद मुकदमों में तो बकायदा चार्जशीट लगाती है, बाकी मुकदमों में लिख दिया जाता है कि मोबाइल लावारिश हालात में पाया गया.
जिला जेल से लगातार मिल रहे मोबाइल फोन

वाराणसी- जिला जेल से मोबाइल फोन मिलना आम बात हो गई है. बीते दिनों जेल से रंगदारी मांगने तक के मुकदमे दर्ज हुए हैं. जेल प्रशासन और स्थानीय थाना पुलिस भी जेल से मोबाइल फोन बरामदगी को गंभीरता से नहीं लेती.

नशे में क्राइम इंस्पेक्टर ने थाने में किया हंगामा, सीनियर को भी नहीं बख्शा

एक-दो नामजद मुकदमों में तो बकायदा चार्जशीट लगाती है, बाकी मुकदमों में लिख दिया जाता है कि मोबाइल लावारिश हाल में पाया गया. वैसे हर मामले में एफआर यानि फाइनल रिपोर्ट लगा दी गई है. मतलब, ऐसे मामलों में पुलिस जांच ही नहीं कर रही है, बस खानापूर्ति कर दी जाती है. नतीजा, हर सप्ताह 1-2 मोबाइल फोन की बरामदगी होती रहती है. लोगों का मानना है कि हत्या, रंगदारी, सांप्रदायिक दंगे समेत अन्य गंभीर अपराध में बंद अपराधी जिला कारागार से लगातार बाहर संपर्क बनाए रखते हैं. 4 जी नेटवर्क का जैमर न होने के कारण आसानी से बाहर बातचीत होती रहती है. जिला जेल के पीछे दीवार डकाकर मोबाइल भीतर पहुंचा दिया जाता है. कभी छापेमारी होती है तो मिट्टी में छिपा देते हैं या इधर-उधर फेंक देते हैं.

पीएम नरेंद्र मोदी ने वाराणसी एयरपोर्ट पर दो एयरो ब्रिज का किया उद्धाटन

गौरतलब है कि अगस्त से अब तक लालपुर-पांडेयुपुर थाने में कुल 15 मामले दर्ज किए गए हैं. जिसमें कि 8 मामलों कि जांच चल रही है, जबकि 7 मामलों की जांच पूरी कर ली गई है. इन 7 में से 3 ऐसे मामले हैं, जिसमें नामजद मुकदमा है. इसमें पुलिस ने चार्जशीट लगा दी है. जबकि बाकी 4 में फाइनल रिपोर्ट लगा दी गई है. अन्य 8 मुकदमों में भी महज नामजद वाले मामलो में ही चार्जशीट दाखिल होगी.

वाराणसी:भेलूपुर क्राइम इंस्पेक्टर पर गिरी गाज, SSP ने किया संस्पेंड

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें