कालोनाइजरों की मनमानी के खिलाफ कार्रवाई नहीं होने पर नैपुरा के लोग धरने पर बैठे

Smart Branded Content Desk, Last updated: Wed, 17th Mar 2021, 2:07 PM IST
कालोनाइजरों की मनमानी के खिलाफ कार्रवाई नहीं होने पर नैपुरा गांव के ग्रामीण धरने पर बैठ गए हैं. ग्रामीणों का कहना है कि कालोनाइजरों ने सरकारी रास्ते की जमीन पर 3 फिट गहरी और 4 फिट चौड़ी खोदाई कर मिट्टी निकाल कर बेच दी. इससे उन्हें आवागमन में असुविधा हो रही है. रास्ता नहीं बनाए जाने तक ग्रामीणों का धरना जारी रहेगा.
धरने पर बैठे नैपुरा गांव के ग्रामीण

वाराणसी. नैपुरा गांव में कालोनाइजरों के सरकारी रास्ते की खोदाई कर मिट्टी बेच देने की शिकायत पर कार्रवाई नहीं होने के चलते परेशान ग्रामीण धरने पर बैठ गए.ग्रामीणों का कहना है कि रास्ता नहीं बनाये जाने तक धरना जारी रहेगा.

जानकारी के अनुसार लंका थाना क्षेत्र के नैपुरा गांव में कालोनाइजरों ने सरकारी रास्ते की खोदाई कर मिट्टी बेच दी. जिसके बाद ग्रामीणों द्वारा कालोनाइजरों की मनमानी की शिकायत लंका पुलिस और रमना पुलिस चौकी पर की गई. शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं होने पर ग्रामीण धरने पर बैठ गए.

BHU में लगे नीता अंबानी के विरोध में नारे, छात्रों में दिखा गुस्सा

पूर्व प्रधान विजेंदर कुमार के साथ दर्जनों की संख्या में ग्रामीण नैपुरा गांव के सामने टिकरी मार्ग पर स्थित बिनसुन बाबा मंदिर के बगल में धरने पर बैठें. लोगों का कहना है कि जब तक उनकी मांग नहीं मानी जाएगी तब तक धरना जारी रहेगा. ग्रामीणों ने कहा कि सरकारी रास्ते की जमीन पर कॉलोनाइजर ने 3 फिट गहरी और 4 फिट चौड़ी खोदाई कर मिट्टी निकाल कर बेच दी. इस रास्ते से लगभग 200 लोगों का आवागमन होता है. रास्ता बंद होने से लोगों के सामने आवागमन की समस्या पैदा हो गई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें