वाराणसी में डूबती महिला के लिए मसीहा बनी एनडीआरफ

Smart News Team, Last updated: 10/08/2020 02:02 PM IST
  • उत्तर प्रदेश के वाराणसी में चंदौली जिले के कोनिया गांव में नदी किनारे नहा रही महिला अचानक गहरे पानी में फंस गई. जब महिला डूबने लगी तो उसने बचाने के लिए आवाज लगाई. महिला की चीख पुकार सुनकर प्रशिक्षण ले रही एनडीआरएफ की टीम ने तुरंत ही दौड़ कर महिला की जान बचा ली.
महिला का नदी से निकालते हुए एनडीआरएफ़ की टीम 

वाराणसी के भैंसासुर घाट पर एक 60 वर्षीय महिला गौरा देवी निवासी गाँव कोनिया में गंगा नदी में नहाते समय अचानक गहरे पानी में चली गयी और डूबने लगी. डूबती हुई महिला की चीख-पुकार सुनकर घाट पर दैनिक प्रशिक्षण ले रही एनडीआरएफ़ के सहायक उपनिरीक्षक दिनेश चन्द्र दुबे के साथ हवलदार पवन कुमार और कांस्टेबल मनोज कुमार तुरंत ही घटनास्थल पर पहुंच गए. महिला को डूबते देख एनडीआरएफ़ के सहायक उपनिरीक्षक दिनेश चन्द्र दुबे ने महिला की तरफ नदी में एक रस्सी फेंक दी और उसे पकड़कर तैरने के लिए कहा. आनन-फानन में अपनी ओर रस्सी के सिरे को देखकर महिला ने उसे पकड़ लिया और एनडीआरएफ़ के रेस्कुएर्स ने उसे नदी से बाहर खींचकर निकाल लिया. पानी से बाहर निकालने के बाद महिला एनडीआरएफ टीम प्राथमिक उपचार कर उसे स्थानीय पुलिस को सुपुर्द कर दिया गया. महिला को अग्रिम उपचार हेतु जिला अस्पताल पहुँचा दिया गया. एनडीआरएफ़ रेस्कुएर्स की त्वरित कार्यवाही और टीम द्वारा दिए उपचार की वजह से महिला की जान बच गई. स्थानीय उपस्थित लोगों और जिला प्रशासन ने टीम की बहुत सराहना की. साथ ही महिला ने भी टीम के लोगों को धन्यवाद दिया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें