नीट सॉल्वर गैंग का सरगना PK गिरफ्तार, पुलिस ने रखा था 1 लाख का इनाम

Smart News Team, Last updated: Thu, 18th Nov 2021, 9:32 PM IST
  • वाराणसी में मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम नीट-यूजी में फर्जीवाड़े वाले सॉल्वर गैंग के सरगना PK को गिरफ्तार कर लिया गया है. पीके उर्फ प्रेम कुमार उर्फ निलेश सिंह पर पुलिस कमिश्नर ने 1 लाख रुपये का इनाम घोषित कर रखा था. पुलिस ने नीट नकल गैंग के सदस्य और पटना सचिवालय के कर्मचारी रितेश को भी पकड़ा है.
पुलिस गिरफ्त में नीट सॉल्वर गैंग के सरगना पीके

वाराणसी: मेडिकल प्रवेश परीक्षा NEET-UG में नकल करवाने वाले सॉल्वर गैंग के सरगना नीलेश सिंह उर्फ प्रेम कुमार उर्फ पीके को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. उसे वाराणसी के सारनाथ थाना इलाके में रिंग रोड के पास गुरुवार दोपहर को गिरफ्तार किया गया. पीके पर पुलिस कमिश्नर ए. सतीश गणेश ने हाल ही में 1 लाख रुपये का इनाम घोषित किया था. उसके खिलाफ कोर्ट ने गैर जमानत वारंट भी जारी किया था. पुलिस ने पीके के साथ उसके जीजा रितेश को भी पकड़ा है. रितेश बिहार के पटना स्थित सचिवालय में लिपिक के पद पर कार्यरत है.

यूपी के अलावा बिहार, कर्नाटक, त्रिपुरा में भी पुलिस पीके की तलाश कर रही थी. आरोपी बिहार के छपरा जिले के एकमा थाना इलाके के एक गांव का मूल निवासी है. फिलहाल वह पटना के पाटलिपुत्र में रह रहा था. नीट-यूजी में नकल का मामला सामने आने के बाद से वह फरार था.

वाराणसी से लखनऊ के बीच शुरू हुई सबसे कम समय में पहुंचने वाली सुपरफास्ट ट्रेन, जानिए डिटेल

12 सितंबर को सारनाथ के एक परीक्षा केंद्र पर त्रिपुरा की हीना विश्वास की जगह बीएचयू की बीडीएस की छात्रा जूली कुमारी को नीट परीक्षा देते पकड़ा गया था। इस मामले में अबतक जूली, उसकी मां बबिता, भाई, सॉल्वर गिरोह में शामिल मऊ निवासी केजीएमयू के छात्र ओसामा, बिहार निवासी विकास कुमार महतो, रवि कुमार गुप्ता, एक अन्य अभ्यर्थी अगरतला के तमाल साहा के पिता तपन साहा को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है.

पीके और उसके गिरोह से जुड़े लोगों के खिलाफ सारनाथ थाने में 2 मुकदमे दर्ज हैं. 16 नवंबर को पुलिस कमिश्नर ए. सतीश गणेश ने पीके के गिरोह के लखनऊ का कैसरबाग निवासी डॉ. अफरोज और त्रिपुरा के गर्जनमुरा निवासी मृत्युंजय देव नाथ पर पर 20-20 हजार रुपये का इनाम घोषित किया था. 

वाराणसी में एयर बैलून ने की आपात लैंडिंग, तमाशबीनों ने लगाई भीड़

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें