वाराणसी: एक और वैदिक सांस्कृतिक केंद्र का निर्माण, एक हिस्से में होगा भव्य मंदिर

Smart News Team, Last updated: 26/08/2020 07:11 PM IST
  • वाराणसी स्थित इस्कॉन के भेलूपुर केंद्र को भव्य रूप देकर श्री श्री राधा गोपाल मंदिर वैदिक इंडिया सांस्कृतिक केंद्र बनाया जा रहा, अगले दो साल में तैयार होने वाले इस केंद्र में वैदिक शिक्षा ग्रहण करेंगे बच्चे
वाराणसी में एक और वैदिक सांस्कृतिक केंद्र का होगा निर्माण, एक हिस्से में भव्य मंदिर भी बनेगा

वाराणसी : बीएचयू के बाद वाराणसी में एक और वैदिक सांस्कृतिक केंद्र बनेगा. इस्कॉन के भेलूपुर केंद्र को ही भव्य रूप देकर श्रीश्री राधा गोपाल मंदिर वैदिक इंडिया सांस्कृतिक केंद्र बनाया जाएगा. मंदिर में वैदिक आश्रम भी बनेगा, जिसमें बच्चे वैदिक शिक्षा ग्रहण करेंगे. यह अगले दो साल में बनकर तैयार हो जाएगा. इससे पहले बीएचयू में इसी साल वैदिक विज्ञान केंद्र का शुभारंभ हुआ है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 16 फरवरी को इसका लोकार्पण किया था.

इस्कॉन वाराणसी के चेयरमैन अच्युत मोहन दास ने बताया कि राधा अष्टमी के दिन इसकी औपचारिक शुरुआत हो रही है. फरवरी से यह बनना शुरू हो जाएगा. उन्होंनेकहा कि वैदिक सांस्कृतिक केंद्र के कई हिस्से होंगे. एक हिस्से में भव्य मंदिर भी होगा जो कानपुर के बाद दूसरा भव्य मंदिर होगा. मंदिर में इस्कॉन के किसी भी केंद्र से आने वाले भक्तों के रहने के साथ योग और अन्य सुविधाएं होंगी.

मंदिर में इस्कॉन भागवत महाविद्यालय की स्थापना भी की जाएगी. इसमें श्रीमद् भागवत से संबंधित कोर्स चलाए जाएंगे. तीस दिन से लेकर तीन माह तक के कोर्स होंगे. इसमें देश विदेश के योग्य शिक्षक होंगे. इसमें सेमिनार हॉल के साथ ऑडिटोरियम भी बनाया जाएगा, जहां एक साथ सौ लोग बैठकर चर्चा कर सकेंगे. बाहर से आने वाले अतिथियों के निवास के लिए डीलक्स सुपर, डीलक्स, फैमिली सूट, रॉयल सूट कमरे भी बनाए जाएंगे. फूड फॉर लाइफ के तहत दर्शनार्थियों को प्रसाद और गरीब लोगों के मध्य भोजन वितरण किया जाएगा. परिसर में आयुर्वेदिक स्पा भी संचलित किया जाएगा. इसमें प्राकृतिक विधि से रोगों का इलाज किया जायेगा. अच्युत मोहन दास ने बताया की यह पावन भूमि मौलिक रूप से दाबुर परिवार ने दान की थी

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें