वाराणसी संकट मोचन मंदिर के महंत के नाम पर देश के मंदिरों को भेजे आपत्तिजनक पत्र

Smart News Team, Last updated: 09/10/2020 12:52 PM IST
वाराणसी के संकटमोचन मंदिर के महंत प्रोफेसर विश्वंभरनाथ मिश्र के नाम पर अक्षरधाम मंदिर के बारे में चिट्ठी में आपत्तिजनक बातें लिखकर देश के विभिन्न धार्मिक संगठनों और मंदिरों को भेजी जा रही है. यह जब पता लगा जब एक आदमी जिसको कि चिट्ठी मिली थी उन्होंने वापस मेहंत को भेज दिया. 
सकंट मोचन मंदिर, वाराणसी

वाराणसी. बनारस के संकटमोचन मंदिर के महंत प्रोफेसर विश्वंभरनाथ मिश्र के नाम पर अक्षरधाम मंदिर के बारे में  चिट्ठी में आपत्तिजनक बातें लिखकर देश के विभिन्न धार्मिक संगठनों और मंदिरों को भेजी जा रही है.  यह जब पता लगा जब एक आदमी जिसको कि चिट्ठी मिली थी उन्होंने वापस मेहंत को  भेज  दिया. 

इसके बारे में पता होते ही महंत विश्वंभरनाथ मिश्र ने डीएम और एसएसपी को पत्र लिखकर मामले के बारे में बताया और केस दर्ज करा दिया है. महंत प्रोफेसर मिश्र ने कहा कि अक्षरधाम मंदिर के बारे में बुरी बातें लिखकर देश के अलग-अलग धार्मिक संस्थानों और‌ मंदिरों को भेजी गयी है. जिनको चिट्ठी मिली वह लोग तुलसीघाट में स्थित आवास और संकटमोचन मंदिर के एड्रेस पर पत्र वापस भेज रहे हैं. यह चिट्ठी हजारों में है.

धार्मिक पर्यटकों को रिझाने को पर्यटन विभाग ने जारी किया पोस्टर

प्रो. विश्वमभरनाथ मिश्र ने यह भी कहा कि, ‘ यह एक साज़िश और सनातन धर्म में फूट डालने का घणित कर्म है. यह संकटमोचन मंदिर को बदनाम करने का षड्यंत्र है. इस प्रयास को सफल नहीं होने दिया जाएगा’.

लाइट एंड साउंड सिस्टम में सदी के महानायक की आवाज की होगी धमक

महंत प्रोफेसर मिश्र ने यह भी बताया कि यह चिट्ठी एक सप्ताह पहले आने शुरू हुए हैं. तीन दिनों में ही सैकड़ों पत्थर आ चुके हैं. इस मामले पर एसएसपी पाठक ने कहा कि जांच कराई जाएगी. बता दें कि चिट्ठी पर यूपी और राजस्थान के डाकघर की मुहर लगी हुई है. इससे तो यह पता लगता कि देश के विभिन्न हिस्सों में लेटर जारी किया जा चुका है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें