बैन के बावजूद वाराणसी एयरपोर्ट के रास्त में धड़ल्ले से चल रही है मांस-मछली की दुकानें

Naveen Kumar Mishra, Last updated: Fri, 1st Oct 2021, 3:31 PM IST
  • वाराणसी  एयरपोर्ट के पाँच किलोमीटर की परिधी क्षेत्र में खुले में मीट- मछली की दुकानें लगाना प्रतिबंधित है. अगस्त महिने में एयरपोर्ट पर्यावरण समीक्षा समिति की बैठक में एयरपोर्ट की सुरक्षा को संज्ञान में लेकर उच्च अधिकारियों को निर्देश दिया गया था कि खुले मे मीट- मांस की दुकानों पर उचित कार्रवाई करें
खुलेआम मांस- मीट बिकता हुआ

वाराणसी: वाराणसी के लालबहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के पाँच किलोमीटर की परिधी क्षेत्र में खुले में मीट- मछली की दुकानें लगाना प्रतिबंधित है. एयरपोर्ट की सुरक्षा को तार- तार करते हुए पाँच किलोमीटर की परिधी क्षेत्र में प्रतिबंध के वावजूद खुलेआम मांस- मीट बिक रहा है. दरअसल अगस्त महिने में एयरपोर्ट पर्यावरण समीक्षा समिति की बैठक हुई थी. एयरपोर्ट पर्यावरण समीक्षा समिति की बैठक में एयरपोर्ट निदेशक के सामने आसपास के गांव में अपशिष्ट पदार्थों को फेंके जाने को लेकर चर्चा की गई थी. चर्चा के दौरान एयरपोर्ट की सुरक्षा को संज्ञान में लेकर उच्च अधिकारियों को निर्देश दिया गया था कि खुले मे मीट- मांस की दुकानों पर उचित कार्रवाई की जाए.

यूपी विधानसभा चुनाव से पहले प्रशासनिक फेरबदल, 7 आईपीएस और 48 पीसीएस का ट्रांसफर

डेबिट कार्ड पेमेंट से लेकर ऑटो पेमेंट तक 1 अक्टूबर से बदल गए बैकों के ये नियम

एयरपोर्ट पर आ जाते हैं जंगली जानवर और पंछी

दुकानदारों के द्वारा खुलेआम मीट, मांस, मछली से निकलने वाले अपशिष्ट पदार्थ को इधर-उधर फेंक दिया जाता है, जिसके चलते अपशिष्ट पदार्थ को खाने के लिए जंगली जानवरों और पंछियों का एयरपोर्ट के आस- पास जमावड़ा लगा रहता है. कभी- कभी ये जानवर एयरपोर्ट के अंदर भी चले जाते हैं. इस कारण एयरपोर्ट की सुरक्षा भी प्रभावित होती है. साल 2019 के अक्टूबर माहिने में इंडिगो दिल्ली के विमान से उड़ान के दौरान पंछी टकरा गई थी. विमान के दूसरे इंजन के पंखे में पंछी फस गई थी. इस पर विमान की आपात लैडिंग करवाई गई थी. उस समय विमान मे 175 यात्री सवार थे. 

गंगा-वरुणा नदी में समा रही 477 साल पुरानी 'लंका', कटाई के कारण खत्म होने के कगार पर बरसों पुराना रामलीला स्थल

क्या कहते हैं एयरपोर्ट निदेशक

एयरपोर्ट निदेशक अर्यमा सन्याल बताते हैं कि एयरपोर्ट से पांच किलोमीटर की परिधि में खुले में बिक रहे मीट मांस मछली आदि की दुकानों पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगाया गया है. उन्होंने कहा कि खुले में कोई भी दुकानदार मीट, मांस, मछली की बिक्री नहीं कर सकता है इस बात को लेकर पुलिस प्रशासन सहित जिम्मेदार अधिकारियों को पहले ही बैठक में बता दिया गया था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें