वाराणसी: लोहता इलाके में चिकनगुनिया का कहर, अब तक 50 से ज्यादा लोग शिकार

Smart News Team, Last updated: 14/10/2020 10:34 PM IST
  • वाराणसी के लोहता इलाके में इन दिनों चिकनगुनिया का प्रकोप बढ़ता जा रहा है. चिकनगुनिया से लोहता इलाके के कोटवा गांव में अब तक 50 से ज्यादा लोग बीमार हो चुके हैं. इस बीच ग्रामीणों ने स्थानीय प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए हैं.
लोहता इलाके में चिकनगुनिया के 50 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं

वाराणसी: वाराणसी के लोहता इलाके में चिकनगुनिया बीमारी ने अपने पैर पसार लिए हैं. लोहता इलाके के कोटवा गांव में अब तक चिकनगुनिया के 50 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं. लेकिन स्थानीय स्वास्थ्य प्रशासन ने अभी तक इस इलाके की कोई खोज खबर नहीं ली है. ग्रामीण इलाके के लोग मजबूरी के चलते निजी अस्पतालों में इलाज करवाने के लिए मजबूर है. चिकनगुनिया बीमारी के ज्यादातर मामले कोटवा गांव के मुस्लिमपुरा, खरका, डिहवा और ठकुरान बस्ती में सामने आए हैं. 

सरकारी अस्पताल में इलाज की उचित व्यवस्था नहीं होने के कारण इस इलाके के ग्रामीण को निजी अस्पतालों में इलाज कराने को मजबूर है. इसी बीत ग्रामीणों ने स्थानीय प्रशासन पर लापरवाही के गंभीर आरोप लगाए हैं. कोटवा गांव के रहने वाले संदीप सिंह, अब्बास अंसारी, मो0 कलाम आदि का कहना है कि इस इलाके में काफी दिनों सेचिकनगुनिया बीमारी के मामले सामने आ रहे हैं. लेकिन स्थानीय प्रशासन ने इस बीमारी से निपटने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाए हैं.

वाराणसी: दुर्गापूजा और रामलीला समितियों को करना होगा कोरोना गाइडलाइन का पालन

ग्रामीणों का कहना है कि करीब दस दिन पहले जिला अस्पताल से एक टीम आई थी जिसने गांव के चिकनगुनिया बीमारी से पीड़ित कुछ लोगों को टाइफाइड और मलेरिया की दवाई दी थी, लेकिन उसके बाद आज तक कोई टीम इस इलाके में नहीं आई है. जबकि इस गांव में लगातार चिकनगुनिया के मामले सामने आ रहे हैं.

वाराणसी के लोहता स्टेशन पर दर्दनाक हादसा, ट्रेन से कटकर युवक की मौत

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें