ऑक्सीजन की कमी, वाराणसी DM के हॉस्पिटलों को निर्देश- नए मरीज ना करें भर्ती

Smart News Team, Last updated: Thu, 22nd Apr 2021, 3:42 PM IST
वाराणसी के कोविड हॉस्पिटल्स में 8-10 घंटे का ही ऑक्सीजन रिजर्व है. ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए DM कौशल राज शर्मा ने ने नए मरीजों को भर्ती नहीं करने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा कि हॉस्पिटल में जितनी ऑक्सीजन की उपलब्धता है, उसी हिसाब से अस्पतालों में मरीज को एडमिट कर उनका इलाज किया जाए.
ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए DM कौशल राज शर्मा ने ने नए मरीजों को भर्ती नहीं करने के निर्देश दिए हैं

वाराणसी. वाराणसी के सभी निजी कोविड हॉस्पिटलों में 8 से 10 घंटे का ही ऑक्सीजन रिजर्व है. इसे देखते हुए वाराणसी के डीएम ने किसी भी नए मरीज को भर्ती नहीं करने के निर्देश दिए हैं. डीएम कौशल राज शर्मा ने कहा कि हॉस्पिटल में जितनी ऑक्सीजन की उपलब्धता है, उसी हिसाब से अस्पतालों में मरीज को एडमिट कर उनका इलाज किया जाए. डीएम ने साफ तौर पर यह भी कहा कि कोविड हॉस्पिटल में जब तक पुराने मरीज डिस्चार्ज नहीं होते तब तक नए मरीजों को भर्ती नहीं करें.

डीएम कौशल राज शर्मा ने बताया कि वाराणसी जिले में हर दिन लगभग 3400 ऑक्सीजन सिलिंडर की सप्लाई होती है. ऑक्सीजन की किल्लत को देखते हुए प्रशासन पूरी रात हॉस्पिटल में ऑक्सीजन सिलिंडरों की रिफलिंग कराकर उसकी आपूर्ति करा रहा है. जिन अस्पतालों में कम ऑक्सीजन है, वहां प्राथमिक रूप से इसकी सप्लाई की जा रही है.

वाराणसी के श्मशान घाटों पर लंबी लाइनें, गंगा किनारे बना अस्थाई शवदाह स्थल, विरोध

वाराणसी डीएम ने निजी अस्पतालों से ये कहा है कि अगले कुछ दिनों में जब ऑक्सीजन की सप्लाई बढ़ जाए तो उसके हिसाब से फिर अस्पताल में बेडों की संख्या बढ़ाई जाए. गौरतलब है कि वाराणसी के निजी और सरकारी हॉस्पिटलों को मिलाकर वेंटिलेटर और ऑक्सीजन वाले बेड की संख्या लगभग 650 है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें