वाराणसी: रामेश्वर महादेव मंदिर मार्ग बंद किये जाने से श्रद्धालुओं में गुस्सा

Smart News Team, Last updated: 03/10/2020 11:49 AM IST
  • पुजारी अनूप तिवारी ने अधिकारियों को पत्र लिखते हुए मांग की है कि अधिमास यात्रा प्रारंभ होने के पहले रोड निर्माण कार्य पूरा करवाया जाए. पंचक्रोशी मार्ग रामेश्वर में पर्यटन विभाग द्वारा सड़क के किनारे पिलर लगाने का विरोध किया है. 
बल्ली से बंद मन्दिर जाने वाला मुख्य मार्ग.   

वाराणसी. वाराणसी काशी पंचक्रोशी यात्रा के तीसरे तीर्थ पड़ाव स्थल रामेश्वर महादेव मंदिर के मुख्य द्वार के सामने के मार्ग को बंद किए जाने से श्रद्धालु आक्रोश में दिख रहे हैं. यह मार्ग लच्छीपुर गांव की ओर जाता है जिसे निर्माण कार्य के लिए बंद किया गया है. लोगों का कहना है कि इस रास्ते को बल्ली लगाकर बंद करना गलत है. लेकिन ठेकेदार का इन बातों पर कोई असर नहीं देखने को मिला. मंदिर के पुजारी ने मुख्यमंत्री और अन्य अधिकारियों को इस पर संज्ञान लेने को कहा है. 

यात्रा को अवरुद्ध करने के कारण तीर्थ यात्रियों व ग्रामीणों में आक्रोश को देखते हुए मन्दिर प्रशासन व पुजारी अनूप तिवारी ने अधिकारियों को पत्र लिखते हुए मांग की है कि अधिमास यात्रा प्रारंभ होने के पहले रोड़ निर्माण कार्य पूरा करवाया जाए. साथ ही पंचक्रोशी मार्ग रामेश्वर में पर्यटन विभाग द्वारा सड़क के किनारे पिलर लगाने का विरोध करते हुये एसडीएम राजातालाब, पर्यटन अधिकारी विभाग, निर्माण निगम के अधिकारियों और सीएम तक को "पंचक्रोशी ड्रीम प्रोजेक्ट" आन लाइन शिकायत पत्र भेजकर व्यवस्था में सुधार करने की मांग की गई है.

वाराणसी: केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी आज करेंगी बनारस के किसानों से संवाद

दूसरी तरफ ठेकेदार पर आरोप हैं कि मनमाने ढंग से कार्य किए जा रहा हेै जिससे आम जनमानस को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. आरोप हैं कि ठेकेदार ने यात्रा मार्ग को बल्ली लगाकर अवरुद्ध कर लापरवाही बरत रहा है.जिसके चलते तीर्थ यात्रियों और ग्रामीणों को यात्रा में परेशानी हो रही है. शुक्रवार को अलग-अलग प्रान्तों से सैकड़ो की संख्या में तीर्थ यात्रियों की गाड़ी मन्दिर तक पहुँच नहीं पाई.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें