वाराणसी में पालतू कुत्तों का रजिस्ट्रेशन अनिवार्य, पंजीकरण नहीं तो जुर्माना

Smart News Team, Last updated: 15/09/2020 02:59 PM IST
  • वाराणसी में अब कुत्ता पालने वालों को उनका रजिस्ट्रेशन और वैक्सीनेशन करवाना अनिवार्य होगा. ताकि कुत्तों की जिओ टैगिंग हो सके. ऐसा ना करने वालों पर जुर्माना लगाया जाएगा.
वाराणसी में पालतू कुत्तों का रजिस्ट्रेशन अनिवार्य, पंजीकरण नहीं तो जुर्माना

वाराणसी. कुत्ता पालने वाले लोगों को अपने कुत्ते का रजिस्ट्रेशन भी करवाना होगा. वाराणसी में कुत्तों का रजिस्ट्रेशन 200 रुपए में होगा और रजिस्ट्रेशन तभी होगा जब पालतू कुत्ते का पूरा टीकाकरण कार्ड दिखाया जाएगा. रजिस्ट्रेशन और बंध्याकरण के अलावा कुत्ते की जिओ टैगिंग कराने की तैयारी है. जिससे प्रत्येक कुत्ते को बारकोड युक्त पहचान पत्र जारी किया जा सके ताकि कुत्ते के बारे में पूरा विवरण नगर निगम प्रशासन के पास उपलब्ध रहे. इसमें कुत्ते की नस्ल का भी जिक्र रहेगा.

नगर निगम प्रशासन ने हाउसिंग सोसायटी की पालतू कुत्तों को लेकर आई शिकायतों को काफी गंभीरता से लिया है. दरअसल पालतू कुत्तों को लेकर निगम के पास काफी शिकायतें आ रही थी. कुत्तों के काटने और दौड़ाने की घटना को खत्म करने के लिए यह फैसला लिया गया. कुत्तों के रजिस्ट्रेशन से लेकर वैक्सीनेशन तक सख्ती की जाएगी. नियमों का उल्लंघन करने पर जनस्वास्थ्य विभाग की टीम मौके पर जाकर जुर्माना लगाएगी. अगर दोबारा लापरवाही होती है तो फिर कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

वाराणसी: रेलवे में नौकरी दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी, ठगे साढ़े तीन लाख रुपये

नगर निगम के आंकड़ों के अनुसार अभी तक केवल 160 कुत्तों का ही रजिस्ट्रेशन हुआ है. रजिस्ट्रेशन को लेकर लोग लापरवाह बने हुए हैं .हमें हर सोसाइटी और कॉलोनी में दर्जनों पालतू कुत्ते नजर आ सकते हैं पर वैक्सीनेशन और रजिस्ट्रेशन के नाम पर अभी तक केवल 160 कुत्तों का नाम दर्ज है. नगर निगम पशु कल्याण विभाग का अनुमान है कि पालतू कुत्तों की संख्या 5000 से अधिक होगी.

वाराणसी: समोसा छानने के लिए रखे खौलते तेल की कड़ाही में गिरने से बच्ची की मौत

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें