शूटिंग स्टेट चैंपियन बना रहा था अपराधियों के लिए फर्जी ट्रेजरी लाइसेंस, अरेस्ट

Smart News Team, Last updated: 18/10/2020 07:26 AM IST
  • वाराणसी में मुख्तार के करीबी मेराज की गिरफ्तारी के बाद फर्जी ट्रेजरी चालान बनाने वाले गिरोह का पर्दाफाश कर दिया है. जिसमें एक आरोपी को पकड़ा गया है. आरोपी पिस्टल शूटिंग में पांच बार का स्टेट चैंपियन है.
वाराणसी पुलिस के साथ फर्जी ट्रेजरी चालान बनाने वाले गिरोह का पकड़ा गया सदस्य

वाराणसी: बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के करीबी मेराज अहमद के शस्त्र के लाइसेंस के फर्जी नवीनीकरण की जांच जुटी जैतपुरा पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. पुलिस ने शनिवार को फर्जी ट्रेजरी चालान बनाने वाले गिरोह का भंडाफोड़ कर एक ऐसे युवक को गिरफ्तार किया है जो पिस्टल शूटिंग में पांच बार स्टेट चैंपियन रहा है. वह कैंटोनमेंट स्थित राइफल क्लब में फायरिंग इंस्ट्रक्टर भी है. 

फर्जी ट्रेजरी चालान बनाने वाले गिरोह के इस युवक का नाम एसपी सिंह है. इसने पुलिस को बताया कि एक साल पहले शूटिंग रेंज पर ही अधिवक्ता सरोज विश्वकर्मा और कचहरी स्थित एसबीआई के मुख्य शाखा में गार्ड रामबचन चौहान से उसकी मुलाकात हुई थी. रामबचन आर्मी से रिटायर था. सरोज विश्वकर्मा पहले असलहा बाबू के साथ मिलकर काम करता था. 

वाराणसी: मुख्तार के करीबी मेराज अहमद के बहनोई और भाई पर रंगदारी का केस दर्ज

एसपी सिंह ने गोरखधंधे के बारे में पूरी जानकारी दी. उसने यह भी बताया कि सरोज विश्वकर्मा लोगों के शस्त्र लाइसेंस का नवीनीकरण कराने के लिए चालानी रिपोर्ट लेकर ट्रेजरी में जमा करने के लिए रुपये शूटर को देते थे. चालानी रिपोर्ट पर गार्ड के जरिये बैंक का मुहर लगवाकर ले लेता था. यही नही इसके बाद ट्रेजरी का रुपया जमा न करके खुद ही फर्जी हस्ताक्षर कर देता था. इसके बाद ट्रेजरी चालान अधिवक्ता को दे देता था. इस तरह ट्रेजरी चालान के लिए मिले रुपये तीनों आपस में बराबर हिस्से में बांट लेते थे.

मुख्तार के करीबी मेराज ने किया सेरेंडर, फर्जी शस्त्र लाइसेंस मामलें में था फरार

मामले की जांच कर रहे जैतपुरा इंस्पेक्टर शशिभूषण राय ने बताया कि शस्त्र लाइसेंस के नवीनीकरण में ही नहीं, बल्कि अन्य कार्यों के लिए फर्जी ट्रेजरी चालान लगाते थे. इस पर किसी का ध्यान नहीं जाता, इसलिए यह काम किया जा रहा था. पुलिस ने अधिवक्ता सरोज विश्वकर्मा और गार्ड रामबचन पर भी मुकदमा दर्ज कर लिया है. फिलहाल अभी तक दोनों फरार चल रहे हैं. पुलिस ने नदेसर के घौसाबाद निवासी एसपी सिंह को सिटी स्टेशन के निकट एक पेट्रोल पंप से गिरफ्तार किया. वह फिलहाल इसी पंप पर काम करता है. आरोपी के पास से 3500 रुपये के तीन फर्जी ट्रेजरी चालान भी बरामद हुए.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें