वाराणसी एयरपोर्ट पर दृश्यता कम, विमान डायवर्ट, 2.45 घंटे देरी से पहुंची फ्लाइट

Smart News Team, Last updated: 03/12/2020 03:01 PM IST
वाराणसी एयरपोर्ट पर कोहरे की वजह से स्पाइसजेट एयरलाइंस की फ्लाइट संख्या यस जी 971 2 घंटे 45 मिनट की देरी से एयरपोर्ट पर पहुंची. इससे पहले विमान आसमान में चक्कर लगाता रहा. इसके बाद यात्रियों की सांसे अटक गई. बाद में पायलट ने विमान को लखनऊ एयरपोर्ट के लिए डायवर्ट करने की अनुमति मांगी.
वाराणसी एयरपोर्ट पर स्पाइसजेट एयरलाइंस की फ्लाइट संख्या यस जी 971 2 घंटे 45 मिनट की देरी से एयरपोर्ट पर पहुंची.

वाराणसी. लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर कोहरे के कारण दृश्यता कम होने पर विमान को डायवर्ट करना पड़ा. एयरपोर्ट पर सुबह 750 विजिबिलिटी होने के कारण विमान नहीं उतारा जा सका. इस कारण स्पाइसजेट एयरलाइंस की फ्लाइट संख्या यस जी 971 2 घंटे 45 मिनट की देरी से एयरपोर्ट पर पहुंची.

जानकारी के अनुसार स्पाइसजेट एयरलाइंस की फ्लाइट संख्या यस जी 971 अहमदाबाद एयरपोर्ट से उड़ान भरकर सुबह 9:00 बजे वाराणसी एयरपोर्ट पहुंची. लेकिन कोहरे के कारण दृश्यता कम होने पर विमान हवा में ही चक्कर लगाता रहा. इससे विमान में बैठे यात्री घबरा गए. इसके बाद विमान के पायलट ने वाराणसी एटीसी से संपर्क किया. पायलट ने विमान को लखनऊ एयरपोर्ट के लिए डाइवर्ट करने की अनुमति मांगी. इसके बाद लखनऊ एयरपोर्ट से विमान 2 घंटे 45 मिनट की देरी से वाराणसी एयरपोर्ट पहुंचा.

एमएलसी चुनाव परिणाण: 11 सीटों पर वोटों की गणना जारी, देर शाम तक आ सकते है नतीजे

स्पाइसजेट की स्थानीय मैनेजर राजेश कुमार सिंह ने बताया कि कम विजिबिलिटी होने के कारण विमान को डायवर्ट लखनऊ भेजा गया. विजिबिलिटी के ठीक होने पर विमान को वाराणसी एयरपोर्ट पर उतारा जा सका.

महंगाई की मार! गैर सब्सिडी घरेलू सिलेंडर LPG 50 रुपए हुआ महंगा

आपको बता दें कि दिसंबर माह में वाराणसी में कोहरा अधिक है. हालांकि कोहरे के लिए एयरपोर्ट पर कैट वन मशीन काम कर रहा है. लेकिन कोहरा अधिक होने के कारण कैट- टू और कैट थ्री की आवश्यकता पड़ती है. इसके अलावा वाराणसी एयरपोर्ट पर लगभग 900 विजिबिलिटी होने पर ही विमान को उतारा जा सकता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें