वाराणसी आ रहे पीएम मोदी, क्रूज पर 18 राज्यों के मुख्यमंत्री करेंगे स्वागत

Ruchi Sharma, Last updated: Sat, 11th Dec 2021, 2:08 PM IST
  • 13 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का लोकार्पण करेंगे. इसके साथ ही वह उमरहा स्वर्वेद मंदिर जाएंगे. पीएम मोदी काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का लोकार्पण करने क्रूज से आएंगे और शाम में दोबारा क्रूज से ही गंगा घाटों को निहारने के साथ गंगा आरती देखेंगे. इस दौरान उत्तर प्रदेश और बिहार के उप मुख्यमंत्री भी प्रधानमंत्री का स्वागत करेंगे.
वाराणसी आ रहे पीएम मोदी, क्रूज पर 18 राज्यों के मुख्यमंत्री करेंगे स्वागत

वाराणसी. देश की सबसे बड़ी जनसंख्या वाले राज्य उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर राजनीतिक दलों में हलचल तेज हो चुकी है. भारतीय जनता पार्टी के लिए यूपी विधानसभा चुनाव साख का सवाल है क्योंकि 2022 की जीत के बिना 2024 की राह आसान नहीं होगी. इसलिए खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कमान संभाल ली है और उत्तर प्रदेश के जिलों में ताबड़तोड़ रैलियां कर रहे हैं. इसी क्रम में 13 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का लोकार्पण करेंगे. इसके साथ ही वह उमरहा स्वर्वेद मंदिर जाएंगे. पीएम मोदी काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का लोकार्पण करने क्रूज से आएंगे और शाम में दोबारा क्रूज से ही गंगा घाटों को निहारने के साथ गंगा आरती देखेंगे. इस दौरान उत्तर प्रदेश और बिहार के उप मुख्यमंत्री भी प्रधानमंत्री का स्वागत करेंगे.

भाजपा पदाधिकारियों के मुताबिक शासन स्तर पर सभी मुख्यमंत्रियों को आमंत्रण भेजा जा चुका है. 13 दिसम्बर की शाम सभी आमंत्रित मुख्यमंत्री व डिप्टी सीएम काशी पहुंच जायेंगे. प्रधानमंत्री सुबह का नाश्ता और लंच मुख्यमंत्रियों के साथ करेंगे. सभी मुख्यमंत्री अपने-अपने राज्यों में विगत साढ़े सात वर्षों में केंद्र सरकार की योजनाओं की सफलता की कहानी बताएंगे. वे राज्यस्तर पर लागू योजनाओं का भी ब्योरा देंगे.

 

 

 

13 दिसंबर का ये है कार्यक्रम

जानकारी के मुताबिक गंगा की मौजों में क्रूज पर सवार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मुख्यमंत्रियों के साथ जलविहार के दौरान चर्चा भी करते रहेंगे. प्रधानमंत्री शाम को संत रविदास घाट से जल विहार शुरू करेंगे. धाम कॉरीडोर के लोकार्पण के समय कई घाटों पर आतिशबाजी, लेजर शो और दीपोत्सव भी होगा. उधर,धाम के लोकार्पण उत्सव में 13 दिसंबर को पूरे काशी में लघु भारत का विहंगम नजारा दिखेगा. गोदौलिया से लेकर श्री काशी विश्वनाथ दरबार तक लोग दीपोत्सव करेंगे. इस दौरान शंखनाद और डमरूवादन के साथ वेद मंत्र गूंजेंगे. वाद्य यंत्रों की ध्वनि के बीच झांकियां भी निकलेंगी. राजस्थान का कालबेलिया, महाराष्ट्र का लावणी, पंजाब का भांगड़ा-गिद्दा, गुजरात का गरबा- डांडिया भी होगा. इसके लिए विभिन्न प्रांत के सामाजिक संगठन तैयारी में लगे हुए हैं.

 

राज्यों के मुख्यमंत्री देंगे प्रस्तुतीकरण

वहीं अगले दिन 14 दिसंबर को बनारस रेल कारखाना सभागार में अलग-अलग सत्रों में मुख्यमंत्री केंद्र सरकार की योजनाओं के अमल और राज्यों की प्रगति पर प्रस्तुतीकरण देंगे. करीब चार घंटे की इस बैठक के बाद सभी मुख्यमंत्री दोपहर के भोजन के समय पीएम मोदी  के साथ होंगे.

 

PM नरेंद्र मोदी ने किया सरयू नहर का लोकार्पण, UP के 9 जिलों के किसानों को फायदा

 

इन राज्यों के मुख्यमंत्री पहुंचेंगे वाराणसी

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर, त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र भाई पटेल, हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह, असम के मुख्यमंत्री हिमांता विस्व शर्मा, गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत, कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री प्रेमा खांडू 13 दिसंबर की दोपहर तक वाराणसी पहुंच जाएंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें