PM नरेंद्र मोदी ने लगाई गंगा में डुबकी, विश्वनाथ दर्शन के लिए कलश में जल भरकर ले गए

Anurag Gupta1, Last updated: Mon, 13th Dec 2021, 1:46 PM IST
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गंगा में डुबकी लगाई. कलश भरकर मां गंगा की पूजा अर्चना की. इसी जल से पीएम मोदी बाबा विश्वनाथ का जलाभिषेक करेंगे. काशी विश्वनाथ के दर्शन के बाद करेंगे काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का उध्दाटन.
गंगा में डुबकी लगाकर जल भरते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फोटो)

वाराणसी. काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के लोकार्पण के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वाराणसी पहुंच चुके हैं. प्रधानमंत्री तय कार्यक्रम के अनुसार काशी के ललिता घाट पहुंच कर गंगा में डुबकी लगाई. यहां से पीएम मोदी ने कलश में जल भरकर मां गंगा की पूजा अर्चना की. इसी जल से पीएम मोदी बाबा विश्वनाथ का जलाभिषेक करेंगे.

पीएम नरेंद्र मोदी तय कार्यक्रम के अनुसार पहले काशी विश्वनाथ का दर्शन करेंगे उसके बाद काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का उध्दाटन करेंगे. इस दौरान पूरी काशी नगरी रंगा रंग नजर आ रही है. हर ओर से हर-हर महादेव की गूंज उठ रही है.

काशी विश्वनाथ धाम कॉरिडोर बनाने वाले 2500 मजदूरों के साथ लंच करेंगे मोदी

कड़ी सुरक्षा के इंतजाम किए गए:

काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के उद्घाटन से पहले प्रधानमंत्री ठीक 11 बजकर 35 मिनट पर खिड़किया घाट पहुँचे. वहाँ उन्होंने घाट सम्बन्धी निर्माण कार्य को देखा. लगभग 14 मिनट के बाद प्रधानमंत्री अलकनन्दा क्रूज से आगे ललिता घाट के लिए निकल गए. इस दौरान जल थल नभ में अभेध सुरक्षा इंतजाम किए गए थे. गंगा नदी में क्रूज को जाने के लिए विशेष वाटर गैलरी बनायी गयी थी साथ ही क्रूज के चारो तरफ वाटर एम्बुलेंस सहित एक दर्जन की संख्या में सैनिकों की बोट का सुरक्षा घेरा था. वही गंगा नदी के ऊपर हवा में भारतीय सेना का एक हेलीकाप्टर भी हालात पर नजर बनाये हुआ था.

मोदी-मोदी के जयघोष से गूंजा वाराणसी:

वाराणसी के लोगों ने पीएम मोदी का जोरदार स्वागत किया. पीएम मोदी ने भी नमस्कार कर अभिवादन का जवाब दिया. पीएम के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में स्वागत के फूलों की पंखुड़ियों की बौछार की गई. इस दौरान सिर्फ एक ही आवाज आ रही थी ‘मोदी-मोदी’. चारों तरफ से हर-हर महादेव के नारे लग रहे थे. अब प्रधानमंत्री दो दिन तक काशी की नगरी में ही रहेंगे.

रास्ते बंद होने से छात्रों को हो रही समस्या:

प्रधानमंत्री के कार्यक्रम को लेकर राजघाट पुल पर 10 बजकर 30 मिनट से ही आवागमन बन्द कर दिए जाने से राहगीरों को समस्याओ का सामना करना पड़ा वही एस एस सी की परीक्षा देने जा रहे कई अभ्यर्थियो की परीक्षाएं भी छूट गयी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें