PM मोदी करेंगे मेयर सम्मेलन को संबोधित, पहुंचे CM योगी एव मंत्री हरदीप पुरी

Shubham Bajpai, Last updated: Fri, 17th Dec 2021, 11:14 AM IST
  • वाराणसी में आज से दो दिवसीय अखिल भारतीय मेयर सम्मेलन का आयोजन होने जा रहा है. पीएम नरेंद्र मोदी इस सम्मेलन का उद्घाटन करेंगे. सम्मेलन में केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी और सीएम योगी आदित्यनाथ समेत कई मंत्री शामिल होंगे. सम्मेलन में नया शहरी भारत विषय पर चर्चा होगी.
PM मोदी करेंगे मेयर सम्मेलन को संबोधित, पहुंचे CM योगी एव मंत्री हरदीप पुरी

वाराणसी, यूपी का वाराणसी अब आध्यात्मिक के साथ आर्थिक व राजनीतिक तौर पर कितना महत्वपूर्ण इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि सभी मुख्यमंत्री की बैठक के बाद अभ सबी मेयर की बैठक का आयोजन वाराणसी में किया जा रहा है. इस अखिल भारतीय मेयर सम्मेलन को प्रधानमंभी नरेंद्र मोदी सम्बोधित करेंगे. इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी समेत कई मंत्रीगण मौजूद रहे.

वीसी के माध्यम से करेंगे संबोधित

पीएम मोदी मेयर सम्मेलन का उद्घाटन वीडियो क्राफेंसिंग के माध्यम से करेंगे. इस दौरान वो नया शहरी भारत विषय पर सभी मेयर को वीसी के माध्यम से संबोधित करेंगे. इस दौरान विभिन्न राज्यों के करीब दो सौ से अधिक मेयर कार्यकर्रम में शामिल हो रहे हैं.

अखिलेश ने छुए चाचा के पांव, भावुक होकर शिवपाल ने लगाया गले और कही ये बात

आशुतोष टंडन को दी गई कार्यक्रम की जिम्मेदारी

मेयर सम्मेलन की पूरी जानकारी प्रदेश के शहरी विकास मंत्री आशुतोष टंडन को दी गई है. उनके साथ संगठन की ओर से अशोक धवन उनके साथ रहेंगे. कार्यक्रम में पीएम मोदी के संबोधन के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ सभी मेयर को संबोधित करेंगे. इसके साथ ही सभी मेयर आयोजन स्खल पर मौजूद काशी का विकास मॉडल पर आधारित प्रदर्शनी का भी अवलोकन करेंगे.

दिखाई जाएगी लघु फिल्म

इस कार्यक्रम में शामिल सभी अतिथियों के साथ मेयर को लघु फिल्म भी दिखाई जाएगी. जिसमें न्यू अर्बन इंडिया व यूपी के विकास व उसकी संभावनाओं को भी दर्शाया जाएगा. इसके साथ ही काशी की सांस्कृतिक विकास पर भी फिल्मा का प्रदर्शन किया जाएगा.

सपा-प्रसपा का हुआ गठबंधन, चाचा शिवपाल से मिलने के बाद अखिलेश का ऐलान

बता दें कि 17 से 19 दिसंबर तक चलने वाले इस सम्मेलन में भारत सरकार और प्रदेश सरकार मेयर को विभिन्न उपलब्धियों को लेकर संबोधित करेगी. साथ ही उन प्रयासों पर भी चर्चा हो सकती है, जिनके जरिए राज्यों का जल्द से जल्द विकास हो सके.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें