वाराणसी: भगवान बुद्ध के प्रथम उपदेश स्थल सारनाथ के पंचायती मंदिर पर पोस्टर जारी

Smart News Team, Last updated: Tue, 2nd Feb 2021, 1:48 PM IST
  • यूपी टूरिज्म पर्यटकों को आकर्षित करने का प्रयास कर रहा है. पर्यटन उद्योग को बढ़ावा देने के लिए पर्यटन विभाग की ओर से काशी के गंगा घाटों और गंगा आरती की महत्ता को दर्शाता पोस्टर रिलीज़ किया गया है 
कोरोना के कारण बिहार पर्यटन को काफी नुकसान हो रहा है.

वाराणसी. काशी के घाटों की खूबसूरती से परिचय कराने के बाद उत्तर प्रदेश पर्यटन विभाग ने भगवान बुद्ध के प्रथम उपदेश स्थल सारनाथ के पंचायती मंदिर पर पोस्टर जारी किया है. पोस्टर के साथ यूपी टूरिज्म ने भगवान बुद्ध और सारनाथ की आस्था का वर्णन कर पर्यटकों को आकर्षित करने का प्रयास किया है. बता दें कि कोरोना संक्रमण के कारण देश भर में लगाए गए संपूर्ण लॉकडाउन के बाद शुरू हुई अनलॉक डाउन की प्रक्रिया के साथ ही पर्यटन विभाग पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए पोस्टर जारी कर पर्यटन उद्योग को बढ़ावा देने का प्रयास कर रहा है. इस क्रम में यूपी टूरिज्म ने पिछले दिनों काशी के गंगा घाटों और गंगा आरती की महत्ता को लेकर पोस्टर जारी किया था. अब पर्यटन विभाग की ओर से काशी के सारनाथ के पंचायती मंदिर को लेकर पोस्टर जारी किया गया है. 

पोस्टर जारी कर पर्यटन विभाग ने बताया है कि काशी के गंगा घाटों के साथ ही भगवान बुद्ध के प्रथम उपदेश स्थली के तौर पर विश्व भर में बौद्ध मतालंबियों के बीच सारनाथ एक बड़ा आस्था का केंद्र है. वाराणसी दर्शन पूजन के लिए आने वाले सैलानी बोध धर्म की विरासत को देखने और महसूस करने के लिए सारनाथ आना नहीं भूलते हैं. पर्यटन विभाग ने पोस्टर के माध्यम से यह भी बताया है कि सारनाथ का नाम भगवान शिव के साले सारंग नाथ के नाम पर पड़ा है. वही सिंह स्तंभ और अशोक चक्र की उत्पत्ति का स्थान होने की वजह से इतिहास की एक लंबी गाथा सारनाथ संग्रहालय में दर्ज है. पोस्टर में लिखा गया है कि सारनाथ में पंचायती मंदिर प्राचीन मठों अशोक स्तंभ और मन्नत स्तूपोर के अवशेष प्रागैतिहासिक युग की स्थापत्य समृद्धि को दर्शाते हैं. वाराणसी आए और एक ही बार में यह सब पता लगाएं.

वाराणसीः सपा जिलाध्यक्ष को मिली जान से मारने की धमकी, पुलिस से सुरक्षा की मांग

पोस्टर जारी होने के बाद लोगों ने भी इंटरनेट मीडिया में यह पोस्टर शेयर किया है. पंचायती मंदिर सारनाथ में आने वाले पर्यटकों के लिए विशेष आकर्षण का केंद्र है. यूपी टूरिज्म की ओर से जारी किए गए पोस्टर में सारनाथ में पुरातत्व विभाग की ओर से तलाशे गए पंचायतन मंदिर के अवशेष पर पोस्टर जारी किया गया है. जारी पोस्टर में मंदिर के अवशेष को दर्शाया गया है. यही नहीं पोस्टर के साथ ही सारनाथ में आर्कियोलॉजिकल साइट के तौर पर भी इसकी पहचान जाहिर की गई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें