वाराणसी में बरसात के बाद हाईवे बना तालाब तो फ्लाईवे बना झरना

Smart News Team, Last updated: Sat, 12th Jun 2021, 12:22 AM IST
  • वाराणसी में मानसून से पहले हुई बारिश से अभी हाल ही निर्मित हुए फोरलेन ओवरब्रिज के नीचे से गुजरने वाली सड़क जलनिकासी के लिए कोई व्यवस्था ने होने के कारण तालाब में बदल गया है. मानसून आने से पहले ही प्री मानसून वर्षा ने राज्य की व्यवस्था की पोल खोल कर रख दी है.
वाराणसी में बरसात के बाद हाईवे बना तालाब तो फ्लाईवे बना झरना

वाराणसी। उत्तर प्रदेश में मानसून के आने से पहले होने वाली प्री मानसून वर्षा ने अपना असर दिखा दिया है. वाराणसी में मानसून से पहले हुई बारिश से अभी हाल ही निर्मित हुए फोरलेन ओवरब्रिज के नीचे से गुजरने वाली सड़क जलनिकासी के लिए कोई व्यवस्था ने होने के कारण तालाब में बदल गया है. मानसून आने से पहले ही प्री मानसून वर्षा ने राज्य की व्यवस्था की पोल खोल कर रख दी है.

वाराणसी के व्यासबाग से सरायकाजी तक तकरीबन 3.20 किमी. तक बने ओवरब्रिज के ऊपर जलनिकासी की व्यवस्था इतनी ज्यादा खराब है कि ओवरब्रिज के नीचे से जाने वाली सड़क पर जगह जगह बारिश का पानी वहां से गुजरने वाले लोगों के ऊपर भी गिरता रहता है.

वाराणसी में आर्थिक तंगी से जूझ रहे कैशियर ने फांसी लगाकर दी जान

इसके अलावा सबसे ज्यादा खराब हालत ओवरब्रिज के नीचे से गुजरने वाली फोरलेन सड़क की है. इस सड़क पर थोड़ी सी बारिश में भी सड़क पानी से लबालब भर जाती हैं. इसकी वजह यही है कि कार्यदायी संस्था सड़क के किनारे बनें नालों तक सड़कों पर भी वर्षाजल को पहुंचाने के लिए बनाए गए होल की सफाई नहीं की जाती है. होल पर कूड़ा जमा हो जाता है जिसके चलते जलभराव की समस्या होती है.

वाराणसी में गंगा के पानी का रंग बदलने की पता चली वजह, शासन को भेजी जाएगी रिपोर्ट

सड़कों पर पानी भर जानें के कारण वहां से आनें जानें वाले लोगों और वाहनों को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ता है, इसी के साथ ही बड़े वाहनों जैसे बस और ट्रक आदि के तेजी से गुजरने पर सड़क का पानी किनारे पर चल रहे लोगों और दुकानदारों को भिगो देता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें