वाराणसी में दिनदहाड़े चोरी, ज्वेलरी साफ करने के बहाने उड़ा ले गए ढाई लाख के गहने

Smart News Team, Last updated: 13/10/2020 05:37 PM IST
वाराणसी के रोहनिया के असवारी गांव में गहनों की सफाई करने के नाम  पर चोर ज्वेलरी लेकर फरार हो गए. चोरी हुए गहनों की कीमत ढाई लाख बताई जा रही है.
वाराणसी में गहनों की सफाई के बहाने चोर ढाई लाख की ज्वेलरी उड़ा ले गए.

वाराणसी. वाराणसी के असवारी गांव में ज्वेलरी की सफाई के नाम पर चोर गहने लेकर भाग गए. ये गांव वाराणसी के रोहनिया इलाके में आता है. ये घटना गांव के संतशरण उपाध्याय के घर पर हुई. चोरों ने घर की महिलाओं को अपने विश्वास में लेकर मंगलवार को सुबह लगभग 10 बजे ढाई लाख के गहने  लेकर फरार हो गए.

रोहनिया थाना क्षेत्र के असवारी गांव निवासी संतशरण उपाध्याय के घर पर काली रंग की पल्सर गाड़ी से सफेद शर्ट और काली पैंट पहने दो युवक सुबह लगभग 10 बजे पहुंचे. युवक पीतल के बर्तन और सोने-चांदी के आभूषण को साफ करने के लिए कोई पाउडर बेच रहे थे. उन दोनों युवकों ने घर की महिलाओं को अपने विश्वास में लेकर आभूषण की सफाई करने के लिए पाउडर खरीदने को कहा. महिलाओं ने उन युवको पर विश्वास करके घर के सभी गहने उनसे साफ कराने के लिए तैयार हो गईं और गहनों को उनसे साफ करने लगीं. 

T-20 क्रिकेट लीग में चमकेंगी की UP की लड़कियां, दिखाएंगी अपना हुनर

इस दौरान संत शरण उपाध्याय की 65 वर्षीय चाची जीरा उपाध्याय और 55 वर्षीय बहन आशा दुबे भी वहां मौजूद थीं. अपने ऊपर घर की महिलाओं के कोई शक न हो पाने को देखकर दोनों बदमाश गहनों को धीरे-धीरे समेटने लगे. जब घर की महिलाएं कुछ देर के लिए वहां से हटीं तभी चोर गहने लेकर भाग गए.

जमीन के नाम पर लुट गए जज साहब, 13 साल से हो रहे थे ठगी का शिकार, केस दर्ज

 जब तक महिलाएं चिल्लाकर घर के बाकी सदस्यों को बता पातीं तब तक चोर फरार हो गए. चोरी हुए सामान में चांदी की तीन पायल और 20-25 ग्राम की सोने की चेन सहित लगभग ढाई लाख के गहने थे. इस वारदात की सूचना संत शरण उपाध्याय ने राजातालाब चौकी प्रभारी को दी. घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचकर पुलिस जांच मे जुट गई है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें