बजट में सिस वरुणा पेयजल योजना से काशी में घर घर गंगा का पानी पहुंचने का उम्मीद

Smart News Team, Last updated: 02/02/2021 04:27 PM IST
  • सोमवार को केंद्र सरकार की ओर से लाए गए आर्थिक बजट 2021 में अरसे से बजट के अभाव में दम तोड़ रही सिस वरुणा पेयजल योजना के तहत पुरानी काशी के घर-घर तक गंगा का पानी पहुंचाए जाने की उम्मीद जग गई है. आर्थिक बजट में पेयजल परियोजना को लेकर किए गए प्रावधानों से जल निगम के अधिकारी भी उत्साहित है.
गंगा (फाइल तस्वीर)

वाराणसी : केंद्र सरकार के आर्थिक बजट में पेयजल परियोजना के लिए के लंबित प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए अच्छी खासी धनराशि आवंटित की गई है. इसी के तहत काशी में अरसे से लंबित वरुणा पेयजल परियोजना के लिए प्रस्तावित दो परियोजनाओं को पूरा करने लिए क्रमश: 121 करोड़ तथा 114 करोड़ रुपए का बजट निर्गत होने की संभावना मजबूत हुई है. काशी में नगरी पेयजल परियोजना को शुद्र बनाने के लिए शहर को दो भागों में बांटा गया है. वरुणा पार इलाके को ट्रांस वरुणा जबकि दूसरे हिस्से को से सिस वरुणा का नाम दिया गया है. ट्रांस वरुणा पेयजल परियोजना के लिए 209 करोड़ रुपए व सिस वरुणा पेयजल परियोजना के लिए 227 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित है.

इसके अलावा 50,000 नए कनेक्शन व 1.58 लाख घरों में वाटर मीटर लगाने के लिए तकरीबन 111 करोड़ रुपए का बजट तय किया गया है. काशी शहर में ट्रांस व सिस वरुणा पेयजल परियोजना को साल 2010 में प्रारंभ किया गया था. जैसे 2 साल में पूरा करना था. धांधली के आरोपों और बजट के अभाव में इस योजना को समय रहते पूरा नहीं किया जा सका. जिस कारण वक्त बीतने से इन परियोजना को पूरा करने के लिए लागत भी काफी बढ़ गई. मौजूदा समय में इन परियोजनाओं को पूरा करने के लिए 700 करोड रुपए का बजट पुनरीक्षित किया गया है.

वाराणसी : अब प्रोफेशनल्स भी उठा सकेंगे डाक जीवन बीमा योजना का लाभ

इस संबंध में जल निगम के मुख्य अभियंता एके पुरवार ने बताया कि शासन से श्री स्वर्ण पेयजल परियोजना के लिए 7 करोड़ों रुपए की धनराशि स्वीकृत कर दी गई है. इसके अलावा परियोजना को पूरा करने के लिए 114 करोड़ रुपए का प्रस्ताव शासन को भेजा गया है जो जल्द ही स्वीकृत हो जाएगा. बताया कि इस परियोजना के पूरे होने पर पुरानी काशी में घर-घर गंगा का पानी पहुंचने लगेगा. इससे लोगों को काफी हद तक सहूलियत मिलेगी.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें