वाराणसी : 60 फ़ीसदी तक खराब है रोडवेज की किराया मशीनें, यात्री हो रहे परेशान

Smart News Team, Last updated: 03/02/2021 03:19 PM IST
  • पूर्वांचल के जिलों में चल रही रोडवेज बसों की 60 फ़ीसदी किराया मशीन कंडम हो गई है. इन मशीनों को लेकर परिचालक तो परेशान है ही साथ ही यात्रियों को भी परेशान होना पड़ रहा है. रोडवेज के यात्रियों ने परिवहन विभाग से इस समस्या को गंभीरता से लेने की अपील की है.
60 फ़ीसदी तक खराब है रोडवेज की किराया मशीनें (प्रतीकात्मक तस्वीर)

वाराणसी : रोडवेज बसों की कराया मशीनें खराब होने से टिकट व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो चुकी है. चालक व परिचालक जगह-जगह बसों को रोककर टिकट काट रहे हैं. इससे चालक परिचालक की दिक्कत तो हो ही रही है वही यात्रियों को भी अपने गंतव्य तक पहुंचने के लिए विलंब हो रहा है. रोडवेज डिपो प्रशासन की ओर से बिगली किराया मशीनों को मरम्मत के लिए लखनऊ तो भेजा गया है लेकिन वहां से अब तक एक भी मशीन बनकर नहीं आई है. 

इन मशीनों की मरम्मत न होने का कारण यह बताया जा रहा है कि ट्राईमैक्स कंपनी का टेंडर 3 माह पहले ही परिवहन विभाग से समाप्त हो गया है. अभी तक किसी दूसरी कंपनी को टेंडर नहीं दिया गया है. मौजूदा समय में हालत यह है कि आजमगढ़ परिवहन परी क्षेत्र में संचालित कुल 450 रोडवेज बसों में से तकरीबन 270 बसों के किराया मशीनें काम नहीं कर रही है. 

वाराणसी : आर्थिक बजट में कस्टम ड्यूटी बढ़ने से संकट में आया काशी वस्त्र उद्योग

6 साल पहले परिवहन विभाग की ओर से ट्राईमैक्स कंपनी को किराया मशीन की मरम्मत करने का टेंडर दिया गया था. नवंबर माह में इस कंपनी के टेंडर की समय अवधि समाप्त हो चुकी है. इस संबंध में मऊ जिले के एआरएम वीएन त्रिपाठी ने बताया कि किराया मशीनों के खराब होने की सूचना से उच्चाधिकारियों को अवगत करा दिया गया है. जब तक मुख्यालय स्तर पर व्यवस्थाएं पटरी पर नहीं आती तब तक परिचालकों को साधारण टिकट देकर काम चलाया जा रहा है. उन्होंने यात्रियों से सहयोग की अपील की है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें