उत्तराखंड चमोली, गंगा के रौद्र प्रवाह को शांत करने के लिए दशाश्वमेध घाट पर आरती

Smart News Team, Last updated: Thu, 5th Aug 2021, 7:38 AM IST
  • उत्तराखंड के चमोली में ग्लेशियर फटने के बाद गंगा के रौद्र प्रवाह को शांत करने के लिए रविवार को बनारस के दशाश्वमेध घाट पर गंगा सेवा निधी ने मां की विशेष आरती हुई. यह आरती निधी के सात अर्चकों ने की. देश भर से आए भक्तों ने मृतकों की आत्मशांति के लिए दो मिनट का मौन रखा.
उत्तराखंड चमोली, गंगा के रौद्र प्रवाह को शांत करने के लिए दशाश्वमेध घाट पर आरती

वाराणसी. उत्तराखंड के चमोली में ग्लेशियर फटने के बाद गंगा के रौद्र प्रवाह को शांत करने के लिए रविवार को दशाश्वमेध घाट पर मां की विशेष आरती हुई. यह आरती गंगा सेवा निधी के सात अर्चकों ने की. 

देश भर से आए भक्तों ने मृतकों की आत्मशांति के लिए दो मिनट का मौन रखा. इस दौरान गंगा में 501 दीपों का दान किया गया, आरती के  दौरान गंगा सेवा निधि के अध्यक्ष सुशांत मिश्र, कोषाध्यक्ष आशीष तिवारी और सचिव हनुमान यादव उपस्थित थे.

बता दें कि रविवार सुबह उत्तराखंड के चमोला में ग्लेशियर टूटने के बाद तबाही मच गई थी. अभी मिल रही जानकारी के मुताबिक 14 शव बरामद हुए हैं. अभी भी कई लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है. करीब 170 लोग लापता है. रविवार को आईटीबीपी ने 12 लोगों को निकाला है. ग्लेशियर टूटने के बाद हुई तबाही से तपोवन का पावर प्रोजक्ट भी तबाह हो गया है,  चमोली और प्रभाव वाले क्षेत्रों में लगातार राहत और बचाव का काम जारी है. आईटीबीपी, एनडीआरएफ और एसडीआरएफ लगातार अपना काम कर रही है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें