वाराणसी में तेज रफ्तार बाइक पर नहीं बैलेंस बना पाई शिक्षिका, गिरने से हुई मौत

Smart News Team, Last updated: 14/10/2020 10:07 AM IST
  • वाराणसी में तेज रफ्तार ने एक शिक्षिका की जान ले ली. पड़ोसी के साथ स्कूल जाते समय महिला की बाइक से गिरने के कारण मौत हुई. महिला के गिर जाने के बाद ब्रेक लगाने पर भी 500 मीटर तक बाइक नहीं रुकी. 
वाराणसी में तेज रफ्तार बाइक से गिरने के कारण शिक्षिका की मौत.

वाराणसी. वाराणसी के आजमगढ़ मार्ग पर सुबह के समय एक शिक्षिका की गिरकर मौत हो गई. शिक्षिका बाइक पर बैठकर जा रही थी उसी दौरान बाइक के अचानक उछलने से वे खुद को संभाल नहीं पाई और बाइक से गिर गई. बाइक के तेज रफ्तार में होने से महिला अपने को संभाल नहीं पाई. 

बनारस के पांडेपुर गायत्री नगर की निवासी 55 वर्षीय सुजाता सिंह रोज सुबह अपने पड़ोसी युवक के साथ बाइक पर बैठकर विद्यालय जाती थी. विद्यालय अइली गांव में स्थित है. रोज की तरह अध्यापिका विद्यालय जा रही थी वही रास्ते में उदयपुर गांव पड़ता है. उसी गांव के समीप बाइक की रफ्तार तेज हो गई थी. 

तेज रफ्तार में बाइक के अचानक उछलने की वजह से बाइक के पीछे बैठी शिक्षिका अनियंत्रित हो गई और कुछ दूरी पर जा गिरी. बाइक के तेज रफ्तार में होने के कारण ब्रेक लगाने के बाद भी बाइक 500 मीटर से पहले नहीं रुकी. कुछ समय में आसपास के ग्रामीण लोग मदद के लिए पहुंच गए. वही नजदीकी निजी अस्पताल चंदापुर तक घायल शिक्षिका को ग्रामीण लोगों की मदद से ले जाया गया.  

वाराणसी में बैंक मैनेजर बनकर युवती को ठगा, OTP मांगकर खाते से निकाले 49 हजार कैश

अस्पताल में डॉक्टरों ने घायल शिक्षिका को मृत घोषित कर दिया. हादसे के दौरान पुलिस मौके पर पहुंच गई थी. पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया है और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. 

वाराणसी में दिनदहाड़े चोरी, ज्वेलरी साफ करने के बहाने उड़ा ले गए ढाई लाख के गहने

शिक्षिका अइली के परिषदीय विद्यालय के ब्लॉक चिरईगांव में नियुक्त थी. जहां उनके रोज आने जाने का साधन पड़ोसी की बाइक ही थी. शिक्षिका के पति अभी जीवित नहीं है उनकी 3 वर्ष पहले ही मौत हो चुकी है. इनके एक पुत्र और एक पुत्री है जिनकी शादी हो चुकी है पुत्र का नाम विशाल और पुत्री का नाम खुशबू है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें