मंत्री नीलकंठ बिना हेलमेट पहने स्कूटी चलाकर शिलान्यास करने पहुंचे, जमकर आलोचना

Smart News Team, Last updated: 07/12/2020 08:21 PM IST
  • वाराणसी के राजयमंत्री डॉ नीलकंठ तिवारी अपने विधानसभा क्षेत्र में स्कूटी चलकर पहुंचे. स्कूटी चलाते वक्त इन्होने हेलमेट नहीं पहना हुआ था जिसके बाद मंत्री नीलकंठ की चारो तरफ आलोचना हो रही है.
बिना हेलमेट पहने राजयमंत्री डॉ नीलकंठ तिवारी ने स्कूटी चलाकर कार्यक्रम में पहुंचे

उत्तर प्रदेश के राज्यमंत्री डॉ नीलकंठ तिवारी सोमवार को वाराणसी में एक इंटरलॉकिंग सड़क कार्य का शिलान्यास करने पहुँचे. वह वहां पर अपनी स्कूटी को खूद चलाकर पहुँचे थे. जब वह बिना हेलमेट के शिलान्यास कार्यक्रम स्थल पर पहुँचे तक उन्हें बिना हेलमेट के देखकर सभी लोग दंग रह गए. नीलकंठ तिवारी पर्यटन, संस्कृति, धर्मार्थ कार्य और प्रोटोकॉल राज्यमंत्री है. ये वाराणसी के ही शर दक्षिणी विधानसभा क्षेत्र से विधायक है. वह सोमवार को अपने विधानसभा क्षेत्र के घसियारी टोला में बनने जा रहे इंटरलॉकिंग सड़क का शिलान्यास करने पहुचे थे.

राजयमंत्री नीलकंठ तिवारी सोमवार को अपने विधानसभा क्षेत्र में 33.22 लाख की लागत से 1481 वर्ग मीटर में बन रही इंटरलॉकिंग सड़क का शिलान्याश करने पहुंचे थे. नगरीय अल्प विकसित व मलिन बस्ती विकास योजना के अंतर्गत घसियारी टोला त्रिदेव मंदिर के पास जल निकासी व इंटरलॉकिंग की सड़क बनाई जाएगी. जल निकासी नाली की लम्बाई 500 मीटर तो इंटरलॉकिंग होने वाली सड़क की लम्बाई 735 मीटर लम्बी है.

अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के रनवे के नीचे से निकलेगा हाईवे, प्रस्ताव को मंजूरी

शिलान्याश कार्यकर्म के दौरान राजयमंत्री नीलकंठ ने कहा कि वाराणसी में अब तक ऐतिहासिक विकास एवं निर्माण कार्य किए जा चुके है. अभी भी कई बड़ी बड़ी परियोजनाए बनारस में चल रही है. निर्माणाधीन परियोजनाओं के पूरा होने के बाद बनारस की तस्वीर पूरी तरह से बदल जाएगी. जिसके बाद शहर के लोगो का जीवन और आसान हो जाएगा.

राजयमंत्री डॉ नीलकंठ तिवारी ने इंटरलॉकिंग सड़क का शिलान्यास किया

वाराणसी में सब्जी विक्रेता से खिलौने वाली पिस्तौल के बल पर हुई 4.57 लाख की लूट

राजयमंत्री नीलकंठ तिवारी स्वयं स्कूटी चलते हुए कार्यकर्म स्थल पहुंचे थे. स्कूटी चलाते वक्त उन्होंने हेलमेट नहीं पहन रखा था जिसके बाद से यह काफी चर्चा का विषय बन गया है. हेलमेट को लेकर पुलिस और यातायात पुलिस हमेसा से अभियान चलाते आ रही है. राजयमंत्री की बिना हेलमेट के फोटो विरुल होने के बाद से लोगो में ये चर्चा का विषय बना हुआ है कि नियम बनाने वाले ही नियमो का पालन क्यों नहीं करते है? और कार्यक्रम स्थल के बीच कई चौराहे और पुलिस पिकेट पार करने के बाद भी किसी ने उन्हें रोका क्यों नहीं?

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें