स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती: अयोध्या राम जन्मभूमि के बाद अब काशी और मथुरा की बारी

Smart News Team, Last updated: Wed, 3rd Feb 2021, 6:09 PM IST
  • जगदगुरु स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती ने गंगा महासभा के कार्यालय पर बैठक में कहा कि, अयोध्या में राम जन्मभूमि के बाद अब काशी और मथुरा की बारी है. अब यहां की भूमि भी मुक्त होगी.
स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती: अयोध्या राम जन्मभूमि के बाद अब काशी और मथुरा की बारी

वाराणसी: श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के न्यासी जगदगुरु स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती ने गंगा महासभा के कार्यालय पर बैठक में कहा कि, अयोध्या में राम जन्मभूमि के बाद अब काशी और मथुरा की बारी है. अब यहां की भूमि भी मुक्त होगी. इस दौरान उन्होंने राममंदिर निर्माण सहित अन्य बिंदुओं पर चर्चा करते हुए कहा कि श्री रामजन्म भूमि पर भव्य मंदिर का निर्माण होगा, इसके लिए धन संग्रह का कार्य चल रहा है. अधिक से अधिक लोगों को जागरूक भी किया जा रहा है. पत्रकारों से वार्ता में स्वामी वासुदेवानंद ने किसानों के चल रहे आंदोलन को विपक्ष का आंदोलन बताया. 

मंदिर निर्माण पर स्वामी ने कहा कि राम मंदिर निर्माण में धन की किसी प्रकार की कोई कमी नहीं होगी. कहा कि प्रभु की कृपा रही तो बहुत जल्द ही काशी विश्वनाथ और मथुरा की जन्मभूमि भी मुक्त हो जाएगी. अगर ऐसा नहीं हुआ तो राम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर निर्माण का ही दर्शन करके हम सभी संतुष्ट होंगे. उन्होंने कहा कि आने वाली पीढ़ी बाबा विश्वनाथ और श्री कृष्ण जन्मभूमि का उद्धार देखेगी. 

वाराणसी : आर्थिक बजट में कस्टम ड्यूटी बढ़ने से संकट में आया काशी वस्त्र उद्योग

किसानों के मुद्दे पर कहा कि किसान अपना काम करें, सरकार उनका पूरा ध्यान रखेगी. जो लोग प्रदर्शन कर रहे हैं, भगवान उनको सदबुद्धि दें. उन्हें चाहिए कि वह लोग देश और समाज हित में कार्य करें. लाल किले पर राष्ट्रीय ध्वज ही फहराना चाहिए. वासुदेवानंद सरस्वती ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के राम के भय के सवाल पर कहा कि भगवान उनको भी सद्बुद्धि दे. बता दें कि राम जन्म भूमि निर्माण के लिए धन संग्रह अभियान चल रहा है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें