मेले में झूले से गिरे किशोर की मौत के बाद बवाल, लोगों ने मचाई लूटपाट, हाइवे जाम

Smart News Team, Last updated: 23/03/2021 10:15 PM IST
  • मंगलवार की शाम झूला झूलते वक्त एक 13 वर्षीय लड़का झूले से नीचे गिर गया. जिसमे सिर में गंभीर चोट लगने से उसकी नगर स्थित लाल बहादुर शास्त्री चिकित्सालय में इलाज के दौरान मौत हो गई.
मेले में झूले से गिरे किशोर की मौत के बाद बवाल, लोगों ने मचाई लूटपाट, हाइवे जाम (प्रतीकात्मक फ़ोटो)

वाराणसी: रामनगर थाना क्षेत्र के सहित्यनाका मुहल्ले में लगे एक मेले में मंगलवार की शाम झूला झूलते वक्त एक 13 वर्षीय लड़का झूले से नीचे गिर गया. जिसमे सिर में गंभीर चोट लगने से उसकी नगर स्थित लाल बहादुर शास्त्री चिकित्सालय में इलाज के दौरान मौत हो गई. घटना के बाद मेले के आयोजक भाग निकले. जिसके बाद कुछ शरारती तत्वों ने प्रदर्शनी में लूट पाट मचा दी. 

जिसको जो मिला लूट कर लेता गया. मिली जानकारी के अनुसार सीहाबीर मुहल्ले का रहने वाला कक्षा चार का छात्र 13 वर्षीय विशाल यादव अपने दोस्तों के साथ पास में ही लगे मेले में घूमने गया था. इसी दौरान वह ब्रेक डॉउन नामक झूले पर झूला झूलने लगा. साथ में झूले पर सवार दोस्तों का कहना था कि झूला जब पूरी स्पीड में था तभी स्पीड अधिक होने के कारण उसका संतुलन बिगड़ा और वह झूले से जमीन पर आ गिरा. तत्काल झूला बंद कराकर लोगों ने बालक को शास्त्री अस्पताल में भर्ती कराया जहाँ चिकित्सको ने उसे मृत घोषित कर दिया. 

कोरोना वैक्सीन बर्बादी में लखनऊ और अयोध्या टॉप पर, PM मोदी ने जताई चिंता

इधर बच्चे के गिरने पर प्रदर्शनी के आयोजक और दुकानदार वहाँ से भाग निकले. बिजली भी बंद कर दी गई. इसका फायदा उठा कर मौके पर पहुँचे लोगों ने लूटपाट शुरू कर दी. जिसके हाथ जो मिला वह लेकर भाग निकला. कुछ लोग आगजनी पर भी आमादा हो गए थे लेकिन उन्हें समझा बुझा कर हटाया बढ़ाया गया. दुर्घटना स्थल नगर के अंदर और रामनगर चौराहे से महज 500 मीटर था लेकिन पुलिस को वहाँ पहुँचने में एक घण्टे से भी ज्यादा समय लग गया. 

BHU में दंत मरीजों को मिलेगा बेहतर इलाज, शोध के लिए बनेंगे सस्ते कृत्रिम दांत

विशाल रामनगर में अपने नाना मुन्ना यादव के घर सीहाबीर मुहल्ले में रहकर जय हिंद विद्यालय उड़िया घाट रामनगर में पढ़ाई करता था. विशाल मूल रुप से सिर गोवर्धन का रहने वाला था. पिता रजिंदर पेंटिंग का काम करते है. छोटा बेटा विकास अपने पिता के साथ ही रहता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें