वाराणसी के 30 गांवों से गुजरेगा बुलेट ट्रेन, मंडुआडीह होगा आखिरी पड़ाव, जानें बुलेट ट्रेन का कॉरिडोर

ABHINAV AZAD, Last updated: Mon, 6th Sep 2021, 2:10 PM IST
  • हाई स्पीड कॉरिडोर उत्तर प्रदेश के 22 जिलों तथा दिल्ली के दो जिलों से होकर गुजरेगा. बुलेट ट्रेन का पहला स्टेशन दिल्ली होगा जबकि आखिरी पड़ाव बनारस का मंडुआडीह होगा.
हाई स्पीड कॉरिडोर उत्तर प्रदेश के 22 जिलों से होकर गुजरेगा. (प्रतिकात्मक फोटो)

वाराणसी. जिले वासियों के लिए अच्छी खबर है. दरअसल, बुलेट ट्रेन उत्तर प्रदेश के वाराणसी से राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली तक चलेगी. बहरहाल, इसके लिए डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट यानि डीपीआर पर काम किया जा रहा है. ऐसा माना जा रहा है कि यह डीपीआर सितंबर माह के अंत तक रेल मंत्रालय को सौंप दी जाएगी. मिली जानकारी के मुताबिक, हाई स्पीड कॉरिडोर उत्तर प्रदेश के 22 जिलों तथा दिल्ली के दो जिलों से होकर गुजरेगा. बुलेट ट्रेन का पहला स्टेशन दिल्ली होगा जबकि आखिरी पड़ाव बनारस का मंडुआडीह होगा.

मिली जानकारी के मुताबिक, हाई स्पीड कारिडोर बनारस की दो तहसीलों राजातालाब व सदर के 30 गांव से गुजरेगा. इसके लिए पूर्वोत्तर रेलवे के ज्ञानपुर ट्रैक के किनारे से हाई स्पीड कॉरिडोर बनेगा. यह बुलेट ट्रेन वारणसी से दिल्ली के बीच तकरीबन 810 किमी कुल दूरी तय करेगी. इस दूरी को तय करने में बुलेट ट्रेन को महज तीन घंटे और 41 मिनट का वक्त लगेगा.

गंगा की लहरों पर अब करें क्रूज से सफर, ये है टिकट के दाम और विशेषताएं

इस प्रस्तावित बुलेट ट्रेन दिल्ली के सराय काले खान से शुरू होकर गौतम बुद्ध नगर, मथुरा, आगरा, कानपुर, लखनऊ, रायबरेली, प्रयागराज, संत रविदास नगर, मिर्जापुर होकर वाराणसी के मंडुआडीह पर समाप्त होगा. जबकि यह बुलेट ट्रेन का कॉरिडोर गुडिय़ा, पूरे, लच्छापुर, रायपुर, भंजनपुर, रखौना, चित्तापुर, कचनार, असवारी, जगतपुर, नरउर, हरदत्तपुर, बैरवन आदि गांव से होकर गुजरेगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें