वाराणसी के जौनपुर का शहीद जिलाजीत पंचतत्व में विलीन, नम आंखों से दी विदाई

Smart News Team, Last updated: 14/08/2020 10:07 PM IST
  • वाराणसी के जौनपुर के लाल शहीद जिलाजीत की पार्थिव देह आज जैसे ही तिरंगे में लिपटी पहुंची तो हर किसी की आंखे नम हो गई. चाचा ने मुखाग्नि देकर शहीद लाल को अंतिम विदाई दी. बीते दिन पुलवामा में शहीद हुआ था जिलाजीत यादव
भारतीय सेना

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में मंगलवार को आतंकियों से लोहा लेते यूपी के वाराणसी में जौनपुर निवासी जवान जिलाजीत यादव शहीद हो गया था. आज जब उसकी पार्थिव देह पैतृक गांव जौनपुर के धौरहरा इजरी पहुंची तो हर किसी की आंखें नम हो गई. सेना के जवानों ने गॉर्ड ऑफ ऑनर देकर अंतिम विदाई दी. जिलाजीत तीन माह पहले पिता बने थे. परिजनों ने जब दुधमुहे मासूम को पिता की पार्थिव देह के पास रखा तो हर किसी की आंखों से अश्रुधारा बह निकली. शहीद की पत्नी व परिवारवालों का रो-रोकर बुरा हाल है. अंतिम दर्शन के लिए हजारों लोग हाथों में तिरंगा लेकर पहुंचे थे.

हर कोई बच्चे,जवान,बुढ़े,महिला,युवतियां तक जिलाजीत की शहादत पर भारत माता के जयघोष कर रहे थे. शहीद का गोमती तट पर स्थित रामघाट पर राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया.

प्रभारी मंत्री उपेंद्र तिवारी व जफराबाद के भाजपा विधायक हरेंद्र प्रसाद सिंह व राज्यमंत्री गिरी यादव और प्रशासनिक अधिकारियों ने शहीद को श्रद्धांजलि दी। इस दौरान पूरा घाट भारत माता के जयकारों से गूंजता रहा.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें