बिना मास्क लगाए दारोगा ने पीटकर लोगों को कराया कोविड नियमों का पालन, फोटो वायरल

Smart News Team, Last updated: Wed, 14th Apr 2021, 12:17 AM IST
  • वाराणसी के गंगा घाट पर एक दारोगा खुद सार्वजनिक स्थान पर बिना मास्क पहने घाट पर मौजूद अन्य लोगों को डंडे मारकर खदेड़ रहे थे. जिसे देख कुछ लोगों ने दारोगा की फोटो खींचकर कमिश्नर को ट्वीट कर दिया. जिसके बाद प्रोटोकॉल का उल्लघंन करने के लिए दारोगा का चालान कर दिया गया.
बिना मास्क लगाए दारोगा ने पीटकर लोगों को कराया कोविड नियमों का पालन, फोटो वायरल

वाराणसी. वाराणसी के एक दारोगा को खुद बिना मास्क लगाए घूमना और आम जनता पर लाठी बरसाकर उन्हें खदेड़ना भारी पड़ गया. दरअसल दारोगा गौरव उपाध्याय तुलसी घाट पर बिना मास्क लगाए ड्यूटी कर रहे थे और वहाँ बिना मास्क लगाए लोगों को डंडे मारकर खदेड़ रहे थे. जिसे देख कुछ लोगों ने उनकी फोटो खींचकर वायरल कर दी. जिसके बाद अधिकारियों ने इस मामले में तुरंत संज्ञान लिया और कोविड नियमों का उल्लघंन करने के लिए दारोगा का चालान कर दिया.

जिले में कोरोना की रफ्तार को बढ़ता देखकर जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने लोगों के शाम चार बजे के बाद घाट पर टहलने से रोक लगाई है. इस आदेश का पालन कराने के लिए अस्सी चौकी पर तैनात दारोगा गौरव उपाध्याय सोमवार की शाम चार बजे तुलसी घाट पर पहुंचे. जहां वे लोगों को प्रोटोकॉल का पालन कराने की जिम्मेदारी निभा रहे थे. लेकिन वे खुद सार्वजनिक जगह पर मास्क न लगाकर प्रोटोकॉल का पालन नहीं कर रहे थे. साथ ही उन्होंने अपनी पिस्टल भी होल्स्टर यानी लेदर के केस की जगह फिल्मी तरीके से अपनी कमर में लगाई हुई थी.

वाराणसी: संपत्ति बनी लालता देवी की हत्या की वजह, मुख्य आरोपी के दो सहयोगी अरेस्ट

ड्यूटी पर तैनात दारोगा को रीवा घाट के आस-पास जो भी टहलते हुए दिखाई दे रहा था. उसे वे लाठी से पीटकर वहाँ से खड़ेद रहे थे. लेकिन उनका खुद नियमों का उल्लघंन करके आम जनता को ऐसे पीटना कई लोगों को पंसद नहीं आया. लोगों ने दारोगा की तस्वीर खींच कर पुलिस कमिश्नर को ट्वीट कर दी. इस ट्वीट को देखते ही पुलिस की ओर से तुरंत एक्शन लिया गया. पुलिस कमिश्नर वाराणसी ने बताया कि सार्वजनिक स्थान पर भेलूपुर इंस्पेक्टर के मास्क न लगाने के कारण दारोगा का चालान कर दिया गया है.

पूर्व IPS ने श्री ब्रह्मा वेद विद्यालय यौन शोषण मामले में उठाई जांच की मांग

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें