वाराणसी: 48 घंटे पहले से महाशिवरात्रि को लेकर काशी के लोगों में गजब का जोश

Smart News Team, Last updated: Thu, 11th Mar 2021, 12:05 AM IST
  • महाशिवरात्रि पर बाबा विश्वनाथ की नगरी काशी में भक्तों के स्वागत के लिए मंदिर प्रशासन ने खास व्यवस्था की है. रेड कार्पेट पर चलकर शिवभक्त बाबा विश्वनाथ के दरबार पहुंच जलाभिषेक करेंगे. मंदिर में प्रवेश के लिए चार एंट्री पॉइंट बनाए गए हैं. सुबह मंगला आरती के बाद साढ़े 3 बजे से भक्तों के लिए मंदिर को खोल दिया जाएगा.
बाबा के दर्शन के लिए 48 घंटे पहले से महिलाएं कतार में बैठ चुकी है.

वाराणसी- महाशिवरात्रि को लेकर काशी में अलग ही जोश दिखता है. इस मौके पर काशीवासी बाराती बन कर परम्परागत विवाह में शामिल होते हैं. बताते चलें कि साल का यह एक मात्र ऐसा त्यौहार होता है, जब भक्त लगातार 48 घंटे तक बाबा के दर्शन कर सकते हैं. बाबा के एक झलक पाने को लेकर अभी से ही महिलाएं कतार में बैठ चुकी है.

बता दें कि महाशिवरात्रि पर बाबा विश्वनाथ की नगरी काशी में भक्तों के स्वागत के लिए मंदिर प्रशासन ने खास व्यवस्था की है. रेड कार्पेट पर चलकर शिवभक्त बाबा विश्वनाथ के दरबार पहुंच जलाभिषेक करेंगे. मंदिर में प्रवेश के लिए चार एंट्री पॉइंट बनाए गए हैं. सुबह मंगला आरती के बाद साढ़े 3 बजे से भक्तों के लिए मंदिर को खोल दिया जाएगा. उसके बाद लगातार बाबा भक्तों को दर्शन देंगे. भक्तों के सहूलियत के लिए प्रवेश और निकासी के अलग-अलग रास्तों से होगी.

वाराणसी के एक निजी अस्पताल में लगी आग, आईसीयू में फंसे 10 मरीज

महाशिवरात्रि पर बाबा विश्वनाथ के दरबार को आकर्षण ढंग से सजाया जा रहा है. मंदिर की सजावट के करीब 10 क्विंटल फूल लगाए जा रहे हैं. इनमें गेंदा के पीले फूलों के साथ ही सफेद बेला और अन्य कई अन्य फूलों से मंदिर की सजावट की जा रही है. भक्तों की भीड़ को देखते हुए मंदिर प्रशासन ने इस बार स्पर्श पर रोक लगा रखी हैं. यानी भक्त सिर्फ गर्भगृह के बाहर से ही बाबा विश्वनाथ का झांकी दर्शन कर सकेंगे. भक्तों की सहूलियत के साथ ही उनकी सुरक्षा के मद्देनजर मंदिर प्रशासन ने ये फैसला किया है.

राकेश टिकैत की पूर्वांचल में पहली किसान महापंचायत, वाराणसी एयरपोर्ट पर ये कहा

वाराणसी सर्राफा बाजार में सोना धड़ाम चांदी की चमक बढ़ी, सब्जी मंडी थोक रेट

पुलिस अधिकारी बताकर की शादी और आर्मी कैप्टन बनकर की लाखों की ठगी, अरेस्ट

शिवरात्रि से पहले रामेश्वर धाम में श्रद्धालुओं के लिए तैयार, अधिकारीयों ने लिया जायजा

MahaShivratri 2021: सौ साल बाद बन रहा महाशिवरात्रि पर अद्भुत संयोग, शुभ मुहूर्त

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें