कार के बोनट में मिले 1.86 करोड़ रुपए का प्रतापगढ़ की लूट से कनेक्शन, तलाश में पुलिस

Smart News Team, Last updated: Tue, 2nd Feb 2021, 9:47 PM IST
  • मध्य प्रदेश के सिवनी में गाड़ी के बोनट में आग लगने से मिले करोड़ों रुपए की बरामदगी का कनेक्शन वाराणसी के व्यापारी के प्रतापगढ़ में हुई लूट से जुड़ गए हैं. इस पूरे मामले को सुलझाने के लिए सिवनी पुलिस ने कारोबारी रिंकू सेठ को सिवनी बुलाया है.
मध्य प्रदेश के सिवनी में बरामद हुए करोड़ों रुपए का कनेक्शन प्रतापगढ़ की लूट से जुड़ गए हैं.

वाराणसी. मध्य प्रदेश के सिवनी में कार के जलते बोनट से बरामद हुए 1 करोड़ 86 लाख रुपए के लूटकांड में पुलिस उलझ सी गई है. मध्य प्रदेश के सिवनी में बरामद रुपए करोड़ों रुपए के तार प्रतापगढ़ की लूट से जुड़ गए हैं. वहीं प्रतापगढ़ में जिस करोबारी की लूट हुई थी, उसने सिर्फ 40 लाख रुपए की लूट की रिपोर्ट दर्ज कराई है. इससे पुलिस उलझी हुई है. पुलिस ने कारोबारी को पूछताछ के सिवनी बुलाया है.

प्रतापगढ़ में शनिवार को वाराणसी से दिल्ली सोना खरीदने जा रहे  कारोबारी के कर्मचारियों से स्कार्पियों समेत लाखों रुपए इनोवा सवार बदमाशों ने लूट लिए हैं. जांच में पुलिस को कारोबारी की लूटी हुई कार कौशांबी में रविवार को कौशांबी से बरामद हुई. जिसके बाद व्यापारी रिंकू सेठ ने कौशांबी के कोखराज थाने में 40 लाख लूट की रिपोर्ट दर्ज कराई. वहीं रविवार शाम को मध्य प्रदेश में पुलिस ने इनोवा बोनट में आग लगने से 1.85 करोड़ रुपए बरामद किए और तीन युवकों को भी गिरफ्तार किया.

वाराणसी: कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के प्रदेश सचिव बनाए गए बुनकर नेता मो. स्वालेह अंसारी

मिली जानकारी के अनुसार, युवकों ने पुलिस से बचने के लिए नोटों के बंडल बोनट में छिपा दिए थे. नोटों के कारण बोनट में आग लग गई और अधजले नोट सड़क पर बिखरने लगे. नोटों को देखकर आसपास के लोग जुटने लगे. जिसे देखकर तीनों इनोवा छोड़कर भागने लगे. गांव वालों की सूचना पर पुलिस ने नाकाबंदी करके तीनों को अरेस्ट कर लिया. पकड़े गए तीन युवक सुनील वर्मा, हरिओम बाबू और ग्याबू बाबू हैं. पूछताछ में उन्होंने बताया कि ये रुपए बनारस के रिंकू सेठ के हैं.

काशी में फिल्माई गई फिल्म लाल सिंह चड्ढा के रिलीज होने तक मोबाइल से दूर आमिर खान

जिसके बाद सिवनी पुलिस ने वाराणसी पुलिस से संपर्क किया. इससे पता चला कि कारोबारी के प्रतापगढ़ में रुपए तो लूटे गए हैं लेकिन 1 करोड़ 85 लाख नहीें लूटे गए हैं. इससे पुलिस उलझी हुई है. गिरफ्तार हुए तीन लोगों में एक हरिओम का भाई हरिनाथ कारोबारी रिंकू की गाड़ी चलाता है. हरिओम के अनुसार, लूट नहीं की गई थी, बल्कि हरिनाथ ने बाइक से नोटों की गड्डी उन तक पहुंचाई थी. उसके साथ एक और व्यक्ति था. अब कारोबारी की ओर से कोखराज में लूट में दर्ज कराए केस और सिवनी में बरामदगी व गिरफ्तारी के बाद पूछताछ में जो चीजें निकलकर आ रही हैं, उससे पूरे घटनाक्रम को लेकर पुलिस भी उलझी हुई है.

वाराणसी : अक्टूबर माह तक बदल जाएगा मां विंध्यवासिनी मंदिर परिसर का स्वरूप

यात्री रास्ते में हाथ दें तो ड्राइवर लगाएं ब्रेक, बस नहीं रोकने पर होगी कार्रवाई

पुरानी काशी थीम पर गोदौलिया से दशाश्वमेध घाट तक पिंक कॉरिडोर बनाने का काम शुरू

CBSE ने जारी की 10वीं और 12वीं के परीक्षा की डेट शीट, देखें पूरा टाइम टेबल

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें