वाराणसी में बड़ा ट्रेन हादसा, जानवर को बचाने के चलते पलटे मालगाड़ी के डिब्बे

Smart News Team, Last updated: Wed, 18th Aug 2021, 8:37 AM IST
  • बनारस स्टेशन में एक मालगाड़ी के डिब्बे देर रात पलट गए. हादसे में किसी तरह के कोई नुकसान की सूचना नहीं है. मालगाड़ी में अचानक ब्रेक लगाने से गाड़ी के 4 डिब्बे इंजन से अलग होकर पलट गए और एक डिब्बा बेपटरी हो गया. इस हादसे से वाराणसी- प्रयागराज समेत 4 रेल लाइन पर यातायात प्रभावित रहा. 
बनारस स्टेशन में एक मालगाड़ी के डिब्बे देर रात पलट गए. हादसे में किसी तरह के कोई नुकसान की सूचना नहीं है

वाराणसी. बनारस स्टेशन में बीती रात बड़ा रेल हादसा हो गया. बनारस स्टेशन से थोड़ा आगे एक मालगाड़ी के कई खाली डिब्बे इंजन से अलग होकर पलट गए. हालांकि, इस हादसे में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है. डिब्बे खाली होने की वजह से जान-माल दोनों का नुकसान नहीं हुआ. घटना की जानकारी होते ही रेलवे के आला-अधिकारियों ने मौके पर पहुंच घटना का जायजा लिया और तत्काल मालगाड़ी के डिब्बों को रेलवे लाइन से हटवाने के कार्य में लग गए. इस हादसे से करीब 5 से 6 घंटे रेलवे यातायात प्रभावित रहा. अभी घटना का कारण किसी जानवर का पटरी के बीच में आना बताया जा रहा है. जल्द ही तकनीकी टीम घटनों के कारणों की जांच करेगी.

अचानक ब्रेक लगाने से पलटे डिब्बे

बनारस स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर एक से ट्रेन नम्बर अप बीसीएन बनारस से होते हुए बनारस जा रही थी. तभी प्लेटफॉर्म से आगे उत्तरी छोर पर रोलिंग हट के पास एक जानवर को बचाने के चक्कर में ड्राइवर ने एकदम से ब्रेक लगाया, जिससे मालगाड़ी के 4 डिब्बे पलट गए. जिसमें दो डिब्बे प्लेटफॉर्म नंबर 1 के पास पलटे बाकी वहीं पटरी पर ही पलट गए और एक डिब्बा बेपटरी हो गया. अधिकारियो ने बताया कि इसके बाद भी जानवर को नहीं बचाया जा सका. वो ट्रेन की चपेट में आ गया, जिससे उसकी मौत हो गई.

UP में 11 हजार बच्चों को हर साल मिलेगा 10 हजार रुपये स्कॉलरशिप, ऐसे करें आवेदन

जेसीबी ने बोगी निकालने के लिए दीवार थोड़ दिया है. दो पटरी का तार हटने के बाद क्रेन से बोगी हटाने का काम किया जाएगा.

हादसे की वजह से 4 रेल लाइन पर यातायात प्रभावित

मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने राहत कार्य शुरू करवा दिए हैं. उन्होंने इस दौरान बताया कि यह हादसा रात करीब 9 बजकर 20 मिनट पर हुआ था. जिसकी सूचना मिलने के बाद हम सभी मौके पर पहुंचे क्योंकि हादसे के बाद इतनी जोर आवाज आई कि लगा कोई बड़ा धमाका हुआ. इस हादसे में किसी नुकसान की कोई सूचना अभी तक नहीं मिली है क्योंकि सभी बैगन खाली थे. इस हादसे में पटरियों के बीच बने स्लीपर के परखच्चे उड़ गए.घटना की वजह से मुख्य रूप से वाराणसी और प्रयागराज रेलवे लाइन के साथ करीब 4 रेल लाइन पर यातायात प्रभावित है और कई ट्रेनों के आवागमन में भी रोक लगा दी गई है.

वाराणसी: छेड़खानी का विरोध करना पड़ा महँगा, दबंगों ने की छात्र की पिटाई

तत्काल मालगाड़ी के डिब्बों को रेलवे लाइन से हटवाने के कार्य में लग गए. इस हादसे से करीब 5 से 6 घंटे रेलवे यातायात प्रभावित रहा.

घटना स्थल पर जुटी भारी संख्या में भीड़

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि जब हादसा हुआ तो रेल पटरियों से करीब 1 किमी तक चिंगारियां निकली. जिसने भी हादसे की आवाज सुनी, उन्हें लगा कोई बड़ा हादसा हुआ है. इस दौरान तुंरत ही आला-अधिकारियों के साथ दुर्घटना राहत ट्रेन पहुंच गई और राहत कार्य शुरू कर दिया. इस दौरान दुर्घटना स्थल पर जुटी भीड़ को रोकने के लिए पुलिस बल को काफी मशक्कत करनी पड़ी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें