दो दिन में दो ट्रेनें बंद, यात्रियों को नहीं दी गई कोई सूचना

Smart News Team, Last updated: 02/03/2021 12:35 PM IST
  • दो दिन में दो ट्रेनें बंद हो गईं और अभी तक यात्रियों को इसकी कोई जानकारी नहीं दी गई. ऑनलाइन चेक करने पर ही यात्रियों को ट्रेन के रद्द होने की सूचना मिल रही है. टिकट रद्द होने पर रिफंड के बारे में भी यात्रियों को अबतक कुछ नहीं बताया गया है.
दो ट्रेनें बंद लेकिन यात्रियों को सूचना नहीं

वाराणसी: दो दिन में दो ट्रेनें बंद हो गईं और अभी तक यात्रियों को इसकी कोई जानकारी नहीं दी गई. ऑनलाइन चेक करने पर ही यात्रियों को ट्रेन के रद्द होने की सूचना मिल रही है. टिकट रद्द होने पर रिफंड के बारे में भी यात्रियों को अबतक कुछ नहीं बताया गया है. दरअसल एक मार्च से 09083 अहमदाबाद-मुजफ्फरपुर एक्सप्रेस और दो मार्च से 09089 अहमदाबाद-गोरखपुर एक्सप्रेस ट्रेन को हमेशा के लिए बंद कर दिया गया है. अब इनकी जगह दो नई ट्रेनें बांद्रा-गोरखपुरहमसफर और अहमदाबाद-बरौनी एक्सप्रेस चलाने की योजना है.

अहमदाबाद-मुजफ्फरपुर और अहमदाबाद-गोरखपुर एक्सप्रेस ट्रेनों में 16 जून तक करीब साढ़े 6 लाख लोगों ने बुकिंग करा रखी है लेकिन दोनों ट्रेनों के बंद होने से सभी के टिकट रद्द किए जा रहे हैं. ऐसे में यात्री काफी परेशान हैं क्योंकि उनको अबतक इस बात की जानकारी नहीं दी गई.

वाराणसी: तेल के दाम बढ़ने पर वकील का अनोखा विरोध, एसएसपी से मांगी घुड़सवारी की परमिशन

09091 बांद्रा-गोरखपुर हमसफर 1 मार्च से बांद्रा से हर सोमवार सुबह 5.10 बजे चलेगी और मंगलवार शाम 18.15 बजे गोरखपुर पहुंचेगी. इसी तरह 09092 गोरखपुर-बांद्रा हमसफर 2 मार्च से गोरखपुर से हर मंगलवार रात 21.30 बजे चलेगी और गुरुवार सुबह 8.30 बजे बांद्रा टर्मिनस पहुंचेगी. ये ट्रेन सूरत, वडोदरा, रतलाम, वाराणसी, मऊ और देवरिया सदर स्टेशनों पर रुकेगी.

UP पंचायत चुनाव: उम्मीदवारों की लड़ाई में अंधेरे में एक घर, नहीं पहुंची बिजली

इसके अलावा दूसरी ट्रेन 09483 अहमदाबाद-बरौनी स्पेशल 1 मार्च से अहमदाबाद से रोज रात 12.25 बजे चलेगी और अगले दिन शाम 18.40 बजे बरौनी पहुंचेगी. इसी तरह 09484 बरौनी-अहमदाबाद स्पेशल 3 मार्च से बरौनी से रोज 19.30 बजे चलेगी और तीसरे दिन 12.40 बजे अहमदाबाद पहुंचेगी. ये ट्रेन आणंद, वड़ोदरा, सूरत, इटारसी, हबीबगंज, खजुराहो, चित्रकुट, मुजफ्फरपुर और समस्तीपुर स्टेशनों पर रुकेगी.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें