वाराणसी में कोरोना के चलते यूनिवर्सिटी और कॉलेज 15 मई तक बंद

Smart News Team, Last updated: 03/05/2021 03:24 PM IST
  • महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ, संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय और सभी एफिलिएटेड महाविद्यालयों को अगले आदेश तक 15 मई तक के लिए बंद कर दिया गया है.
15 मई तक बंद

वाराणसी: इस वक्त हर जगह कोरोना अपने पांव पसार चुका है. तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण के कारण विश्वविद्यालय और महाविद्यालयों को फिलहाल बंद कर दिया गया है. महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ, संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय और सभी एफिलिएटेड महाविद्यालयों को अगले आदेश तक 15 मई तक के लिए बंद कर दिया गया है.

इस आदेश के तहत सभी कॉलेजों की गतिविधियां बंद रहेंगी. इसके साथ ही अधिकारी, कर्मचारी और छात्र अवकाश पर रहेंगे. उच्च शिक्षा विभाग के मुख्य सचिव के निर्देश के बाद कुलसचिव की तरफ से ये आदेश जारी किया गया है.

वाराणसी सीएमओ का आदेश, कोरोना टीकाकरण केंद्रों पर हो युवाओं के लिए अलग काउंटर

संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय के कुलसचिव राजबहादुर और महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के कुलसचिव डॉ. एस एल मौर्य के मुताबिक विश्वविद्यालय और एफिलिएटेड महाविद्यालय पूरी तरह से बंद रहेंगे. यूनिवर्सिटी और कॉलेज परिसर में किसी तरह का कोई कार्य नहीं किया जाएगा. 

वाराणसी सर्राफा बाजार में सोना-चांदी पर लगा ब्रेक, सब्जी के थोक रेट

इस दौरान ऑफिस कार्य नहीं होगा. कार्यालय नहीं खुलेंगे और शैक्षणिक कार्य भी स्थगित रहेगा. कॉलेज परिसर में कोई छात्र, शिक्षक, कर्मचारी याअधिकारी उपस्थित नहीं रहेंगे. 15 मई तक ऑनलाइन कक्षाएं भी स्थगित रहेंगी. आपको बता दें कि कोरोना की दूसरी लहर के चलते तमाम लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. किसी को अस्पताल में बेड नहीं मिल रहा तो कोई ऑक्सीजन न मिलने से दम तोड़ रहा है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें