स्कूल खुलने के बाद पहली बार निरीक्षण करने सेवापुरी और आराजी लाइन पहुंचे बेसिक शिक्षा मंत्री

Pallawi Kumari, Last updated: Fri, 8th Oct 2021, 1:33 PM IST
  • कोरोना महामारी के कारण मार्च 2020 लॉकडाउन में लंबे समय तक स्कूलों को बंद कर दिया गया था. संक्रमण के मामले घटने के बाद उत्तर प्रदेश में सितंबर 2021 में दोबारा स्कूल खोले गए. स्कूल खुलने के बाद बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ सतीश चंद्र द्विवेदी ने पहली बार स्कूलों का दौरा किया.
बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ सतीश चंद्र द्विवेदी ने शुक्रवार को जनपद के बेसिक स्कूलों का निरीक्षण किया.

वाराणसी. करीब डेढ़ साल के बाद प्राथमिक स्कूलों के दोबारा खोले जाने के बाद पहली बाद बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ सतीश चंद्र द्विवेदी ने शुक्रवार सुबह जनपद के बेसिक स्कूलों का निरीक्षण किया. शिक्षा मंत्री ने स्कूलों की स्थिति का जायजा लिया और बच्चों की स्कूलों में उपस्थिति और उनकी पढ़ाई आदि की जानकारी भी ली.

शिक्षा मंत्री शुक्रवार सुबह हरहुआ ब्लॉक के देहली विनायक प्राथमिक स्कूल पहुंचे. वहां उन्होंने प्राचार्य व अन्य शिक्षकों से बाचतीत की. उन्होंने स्कूल में बच्चों की पढ़ाई और कोविड नियमों के दिशानिर्देशों के पालन संबंधित जानकारी ली. इसके बाद बेसिक मंत्री रामेश्वर महादेव मंदिर में पूजा अर्चना की.

यूपी के वाणिज्य कर विभाग में वैकेंसी, जल्द की जाएगी 315 खाली पदों पर भर्ती

बेसिक शिक्षा मंत्री आज दिन भर जनपद के बेसिक स्कूलों का दौरा करेंगे. हरहुआ ब्लॉक के देहली विनायक प्राथमिक स्कूल का निरीक्षण के बाद वे आराजी लाइन का सिहोरवा उत्तरी स्कूल जाएंगे. इसके बाद शिक्षा मंत्री जंसा स्थित हाथी बरनी विद्यालय, बेसहुपुर, गैरहा स्कूलों का निरीक्षण करेंगे. इसके अलावा सेवापुरी ब्लॉक में ठठरा और अमिनी स्कूलों में भी निरीक्षण की तैयारी की गई है. शिक्षा मंत्री के साथ बीएसए और खंड शिक्षाधिकारी भी हैं.

कोरोना महामारी के मार्च 2020 में लॉकडाउन लगाया गया था जिसके बाद सभी स्कूलों को बंद कर दिया गया था. कोरोना संक्रमण के मामले घटने के बाद 1 सितंबर 2021 से दोबारा प्राथमिक स्कूल खोले गए हैं. हालांकि माध्यमिक और उच्च विद्यालय इससे पहले ही खोले जा चुके हैं. स्कूलों में कोविड गाइडलाइन के साथ 50 प्रतिशत उपस्थिति में पढ़ाई की जा रही है.

25 को वाराणसी आ रहे PM मोदी, इन योजनाओं का करेंगे शिलान्यास और लोकार्पण

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें