श्रद्धालुओं के लिए गुरुवार से खुल जायेगा काशी विश्‍वनाथ मंदिर, लोकार्पण की तैयारियां तेज

Swati Gautam, Last updated: Wed, 1st Dec 2021, 6:07 PM IST
  • जो श्रद्धालु काशी विश्वनाथ मंदिर के दर्शन करने के इंतजार में उन्हें बता दें कि कल यानी 2 दिसंबर से सुबह छह बजे से मंदिर भक्तों के लिए खोल दिया जाएगा. बता दें कि काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर में जारी निर्माण कार्य की वजह से 3 दिन तक आंशिक रूप से बंद रखा गया है.
श्रद्धालुओं के लिए कल खुल जायेगा काशी विश्‍वनाथ मंदिर, लोकार्पण की तैयारियां जोरों पर. file photo

वाराणसी. विश्व प्रसिद्ध काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर में जारी निर्माण कार्य की वजह से काशी विश्वनाथ मंदिर को 3 दिनों के लिए बंद किया गया है. आज यानी 1 दिसंबर को भी मंदिर को पूरी तरह बंद रखा गया इससे पहले 29 और 30 नवंबर को सुबह छह से शाम छह बजे तक मंदिर आंशिक रूप से बंद रखा गया था. जो श्रद्धालु काशी विश्वनाथ मंदिर के दर्शन के इंतजार में उन्हें बता दें कि कल यानी 2 दिसंबर से सुबह छह बजे से मंदिर भक्तों के लिए खोल दिया जाएगा. कल से श्रद्धालु मंदिर का नया रूप देख पाएंगे और बाबा विश्वनाथ के दर्शन पूजन भी कर पाएंगे.

बता दें कि काशी विश्‍वनाथ मंदिर के गर्भगृह में मकराना के संगमरमर लगाने, शिखर की भीतरी दीवारों की सफाई और गर्भगृह के अंदर लाइटिंग का काम किया जा रहा है जिसके लिए मंदिर को तीन दिन के लिए पूरी तरह से बंद रखा गया है. गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 13 दिसंबर को काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का लोकार्पण करने वाले हैं. इसके लिए यह जोरशोर से तैयारियां चल रही हैं. लोकार्पण के दिन कई प्रमुख धर्माचार्य भी पीएम मोदी के साथ मंच साझा करने वाले हैं. इस दौरान काशी में फिर से देव दीपावली जैसा उत्सव देखने को मिलेगा. घाटों पर दीप सजेंगे और लेजर शो होगा.

लोकार्पण की तैयारियों के बीच 24 घंटे के लिए बंद काशी विश्वनाथ धाम का दरबार

सीईओ डॉ.सुनील वर्मा ने पहले ही विश्वनाथ कॉरिडोर के निर्माण के कारण मंदिर की बंदी की जानकारी दे दी थी. उन्होंने कहा था कि मंदिर को निर्माण के काम के लिए तीन दिनों के लिए बंद रखा गया है. बाबा का पूजन-अर्चन समयानुसार होगा किंतु गर्भगृह में विकास कार्य के चलते भक्तों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा. जिसके बाद अब 2 दिसंबर से भक्त पहले की तरह दर्शन-पूजन कर सकेंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें