बदमाशों ने सभी कमरे बन्द कर वृद्धा को धमकाया, एक लाख के जेवर और कैश लेकर फरार

Swati Gautam, Last updated: Sat, 6th Nov 2021, 9:36 AM IST
  • वाराणसी के रोहनिया थाना क्षेत्र के अखरी गांव में शुक्रवार रात ठेकेदार नत्थू यादव के घर में चोर घुस गए. घर में सोए सभी लोगों के कमरों की बाहर से कुंडी लगा दी और दूसरे कमरे में सोई वृद्धा को डरा धमका कर चुप करा दिया. वृद्धा के कमरे में रखे एक लाख के गहने और 15 हजार रुपये चोरी कर लिए और फरार हो गए.
 बदमाशों ने सभी कमरे बन्द कर वृद्धा को धमकाया, एक लाख के जेवर और कैश लेकर फरार

वाराणसी. राज्य में आए दिन क्राइम और लूटपाट की खबरें बढ़ती ही जा रही है. ऐसा ही एक मामला रोहनिया थाना क्षेत्र के अखरी गांव से आया है जहां शुक्रवार रात ठेकेदार विवेक कुमार यादव उर्फ नत्थू यादव के घर में चोर घुस गए. घर में सोए सभी लोगों के कमरों की बाहर से कुंडी लगा दी और दूसरे कमरे में सोई वृद्धा को डरा धमका कर चुप करा दिया. वृद्धा के कमरे में रखे एक लाख के गहने और 15 हजार रुपये चोरी कर लिए और फरार हो गए. चोरों के जाने के बाद वृद्धा ने शोर मचाया तो यादव ने इसकी सूचना डायल 112 पर दी. रोहनिया पुलिस ने सुबह घटनास्थल का मुआयना किया.

जानकारी अनुसार अखरी गांव निवासी विवेक कुमार यादव उर्फ नत्थू ठेका पर घर बनाने का काम करते हैं. उन्होंने पुलिस को बताया कि चोर शुक्रवार रात उनके घर में छत के रास्ते नीचे उतरे और घर में सो रहे नत्थू यादव के रूम व उनकी भाभी सुमन व छोटे भाई की पत्नी महिमा के रूम का दरवाजा बाहर से बन्द कर दिया. चोरों ने सभी कमरों की बाहर से कुंडी लगा दी. दूसरे कमरे में गए तो वहां बनौरी देवी थी. नत्थू ने बताया कि वह काफी वृद्ध हैं इसलिए चोरों ने उन्हें डरा धमकाकर कर चुप रहने को कहा.

डीएलएड की खाली सीटों पर सीधे एडमिशन, करीब 63 डायट कालेजों में करें आवेदन

नत्थू ने पुलिस को बताया कि मां बनौरी देवी के कमरे में जाकर चोरों ने उन्हें डरा धमका कर उनके रूम में रखा उनका बक्सा उठा ले गए. बक्से को कुछ दूर पर ले आकर तोड़कर सामान फेंक दिए थे. बक्से में रखा सिकड़ी, अंगूठी, लरी, कनफूल आदि और कुछ कपड़े उठा ले गए. नत्थू ने बताया कि बक्से में लगभग 15 हजार रुपये रखे थे चोर वहा भी उठा ले गए. चोरों के जाने के बाद बनौरा देवी ने शोर मचाया तो बाकी घरवालों को लूट की भनक हुई. इतने घरवाले वहां पहुंचे चोर फरार हो चुके थे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें