वाराणसी: बुनकरों के समर्थन में आए साड़ी व्यापारी, 21 अक्टूबर तक कारोबार बंद

Smart News Team, Last updated: 18/10/2020 12:14 AM IST
  • वाराणसी के बुनकरों के समर्थन में अब साड़ी व्यापरी भी 21 अक्टूबर तक अपना व्यापर बंद रखेंगे. बनारस बुनकर कारोबारी बिजली विभाग से फ़्लैट रेट पर बिजली की मांग को लेकर अपना कारोबार बंद रख रहे है.
वाराणसी बुनकरों के समर्थन में अब साड़ी व्यापरी भी 21 अक्टूबर तक अपना व्यापर बंद रखेंगे.(फाइल फोटो)

वाराणसी: शनिवार को वाराणसी में बुनकरों ने उचित रेट पर बिजली की मांग पर  तीसरे दिन भी अपना कारोबार बंद रखा. बुनकरों की मांग है की उनको फ्लैट रेट पर ही बिजली दी जाए. बुनकरों के समर्थन में साड़ी व्यापारी भी 21 अक्टूबर तक अपना कारोबार बंद रखने का ऐलान कर दिया है. लोहता में बुनकरों के समर्थन में बंदी का व्यापक असर दिखा. इसके अलावा हरपालपुर, महमूदपुर, धन्नीपुर, चंदापुर, कोटवां, मंगलपुर, के इलाकों में खटर, पटर में भी पूर्ण बन्दी का माहौल था.

बुनकर नेता मुख्तार अंसारी ने बताया कि सरकार जब तक बुनकरो फ्लैट रेट पर बिजली देने को नहीं मानती है, तब तक हथकरघा, पावरलूम मशीनें बंद रखी जाएगी. पत्रकारों से बातचीत के दौरान बुनकर नेता कामील अंसारी व आजम खां मौजूद थे. वहीं चौतीसों महतों हैदर अंसारी ने बुकरों की मांग को जायद बताते हुए उनका समर्थन किया.इसी तरह लोहता बनारसी साड़ी ब्यापार मंडल के अध्यक्ष सेराज अहमद फारुकी ने बताया कि बुनकरो के मांग के समर्थन में साड़ी ब्यापार मंडल भी 21 अक्तूबर तक अपना कारोबार बन्द रखेगा. बातचीत के दौरान साथ में उपाध्यक्ष शम्भू साव, एवं हाजी मुरादू , हाजी मतीन अंसारी भी मौजूद थे.

चाची से इश्क लड़ाना भतीजे को पड़ा भारी, चाचा ने कुल्हाड़ी से काट डाला

बनारस के लोहता इलाके में बुनकर साड़ी बुनने का काम करते हैं. इन बुनकरों से बिजली विभाग कमर्शियल रेट पर बिजली प्रदान करती है. साड़ी बुनकर इसका काफी समय से पर विरोध करते आये हैं. इसी को लेकर बुनकर इस समय भी विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. इनकी सिर्फ एक ही मांग है की इनको भी फ़्लैट रेट पर ही बिजली दी जाए. जिसके चलते बुनकरों अपने कारोबार को बंद करके प्रदर्शन कर रहे है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें