लोगों में नहीं चालान का डर, जाति लिखी नेमप्लेट की बाइक, स्कूटी लिए घूम रहे

Smart News Team, Last updated: Wed, 30th Dec 2020, 1:00 PM IST
  • यूपी परिवहन विभाग ने 27 दिसंबर को आदेश जारी किया था कि कार, बाइक या अन्य किसी वाहन पर जातिसूचक शब्द लिखकर सड़क पर आए तो गाड़ी मालिकों को भारी जुर्माना भरना होगा. आदेश के बाद कई ऐसे वाहन देखने को मिल रहे हैं. 
जाति लिखी गाड़ियों पर नहीं हो रही कार्रवाई.

वाराणसी. यूपी में परिवहन विभाग के आदेश के बाद गाड़ियों पर जाति लिखकर सड़क पर उतरे तो भारी जुर्माना लगाया जाएगा. कार, बाइक और भारी वाहनों में बड़े-बड़े शब्दों में जाति लिखकर चलना लोगों के लिए गर्व की बात मानी जा रही है. आदेश जारी होने के बाद प्रदेश में अभी भी लोग यादव, जाट, पंडित, राजपूत, गुर्जर, ब्राह्मण, क्षत्रिय जैसे जातिसूचक नाम लिखकर धड़ल्ले से घूम रहे हैं. परिवहन विभाग को इन वाहन मालिकों के ऊपर कार्रवाई करनी चाहिए लेकिन वह भी अपनी आंखें बंद करे बैठा है.

27 दिसंबर को अपर परिवहन आयुक्त मुकेश चंद्र की तरफ से सभी प्रवर्तन अधिकारियों को आदेश दिया गया था कि जातिसूचक नाम वाले वाहनों पर जुर्माना लगाया जाए या उन्हें सीज किया जाए. 

कार पर लिखी जाति तो गाड़ी नहीं होगी जब्त, भरना होगा बार-बार चालान, जानें कितना

हाल ही के दिनों में वाहनों पर फैंसी नंबर प्लेट का चलन काफी बढ़ा है. कई तो नंबर प्लेट पर अंक को इस अंदाज में लिखवाते हैं कि वो पहली बार पढ़ने पर देवी-देवता का नाम लगते हैं. इसी के साथ वाहनों पर नंबर प्लेट तिकोने अंदाज के लगे होते हैं तो कुछ सामान्य से काफी बड़े होते हैं. 

आदेश के बाद ‘सक्सेनाजी’ का कटा चालान, जातिसूचक शब्द लिखने पर पहली कार्रवाई

ऐसे वाहनों पर मोटर वाहन अधिनियम की धारा 177 के तहत कार्रवाई की जाती है. इस धारा में वाहन पर चालान या गाड़ी को सीज किया जाता है. एआरटीओ सर्वेश चतुर्वेदी ने बताया कि अभियान चलाने का आदेश मिला है. टीम बनाकर अलग-अलग क्षेत्रों में जातिसूचक नाम लिखे वाहनों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें