काशी में बहेगी एक और गंगा, जानिए योगी सरकार के इस प्रोजेक्ट की खास बातें

Smart News Team, Last updated: Mon, 14th Jun 2021, 3:39 PM IST
  • वाराणसी के गंगा पार रेती पर मिनी गंगा बनाई जा रही है. 11 करोड़ से भी ज्यादा लागत से बनने वाली इस कैनाल से गंगा के घाटों को बचाया जा सकेगा और टूरिज्म को भी बढ़ावा मिलेगा. दोनों गंगा के बीच द्वीप बनाया जाएगा.
वाराणसी में गंगा पार रेती पर 11 करोड़ की लागत से मिनी गंगा बनाई जाएगी.

वाराणसी. उत्तर प्रदेश के वाराणसी में एक और गंगा बहेगी. योगी सरकार बनारस में मिनी गंगा बनाने जा रही है. वाराणसी के गंगा पार रेती पर दूसरी गंगा बनाई जाएगी. 11 करोड़ 95 लाख की लागत से बनने वाली मिनी गंगा से वाराणसी के टूरिज्म को बढ़ावा मिलेगा. अधिकारियों ने कहा कि दोनों गंगा के बीच एक आइलैंड बनाया जाएगा.

मिनी गंगा प्रोजेक्ट के मैनेजर पंकज वर्मा ने कहा कि गंगा पार रेती पर 5.3 किलोमीटर लंबा और 25 मीटर चैड़ी नहर बनाई जा रही है. गंगा के जरिए इस कैनाल में पानी भरा जा रहा है. उन्होंने बताया, इस प्रोजेक्ट की खास बात ये है कि खनन की गई बालू की नीलामी से प्रोजेक्ट की आधी कीमत निकल आएगी.

वाराणसी कमिश्नरी में तैनात पेशकार की मौत के बाद नौकरी-पेंशन के इंतजार में परिवार

वाराणसी में मिनी गंगा के बनने के बाद दोनों गंगा के बीच एक आइलैंड बनाया जाएगा. इस आइलैंड में पर्यटक ऊँट, घोडे और हाथी की सवारी का आनंद ले पाएंगे. इसके अलावा यहां पर टूरिस्ट पैराग्लाइडिंग और स्कूबा डाइविंग का भी मजा ले पाएंगे. इस बारे में वाराणसी के कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने कहा कि इस कैनाल के तैयार होने से गंगा के पानी का दबाव घाटों पर कम होगा, घाटों को कटान से बचाया जा सकेगा. उन्होंने बताया कि मिनी गंगा बनने से घाटों को नया जीवन मिलेगा.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें