बेसिक शिक्षा में भ्रष्टाचार कर रहे बाबुओं और अधिकारियों को निशाना बनाएगी यूटा

Smart News Team, Last updated: 08/12/2020 07:43 PM IST
  • यूटा प्रदेश अध्यक्ष राजेंद्र राठौर ने बताया कि वर्तमान सरकार द्वारा भ्रष्टाचार पर शिकंजा कसने के सार्थक प्रयास किए जा रहे हैं. बेसिक शिक्षा विभाग में एक ही गद्दी पर काफी समय से जमे बाबू अधिकारियों की शय पर शिक्षकों का शोषण करते हैं.
यूनाइटेड टीचर असोसिएशन (यूटा) ने बाबुओं को भ्रष्टाचार में पकड़वाने का कार्य शुरू

वाराणसी. बेसिक शिक्षा विभाग में बाबुओं के भ्रष्टाचार में लिप्त रहने का आरोप लगातार लगता रहा है. इसको लेकर अब प्रदेश के बेसिक शिक्षकों के संगठन यूनाइटेड टीचर असोसिएशन (यूटा) ने बीड़ा उठाना शुरू कर दिया है. आगरा और औरैया सहित कई जनपदों में बाबुओं को भ्रष्टाचार में पकड़वाने के बाद यूटा ने पूर्वांचल में भी कार्य करना शुरू कर दिया है. यूटा के प्रदेश अध्यक्ष राजेंद्र राठौर सहित उनकी टीम वाराणसी व सोनभद्र सहित पूर्वांचल क्षेत्र में शिक्षकों से संपर्क कर भ्रष्टाचारी बाबुओं की तलाश में सोमवार तक बनी रही. सोनभद्र में यूटा टीम का शिक्षकों ने स्वागत किया.

वाराणसी मंडल में टीम तैयार कर रहे सोनभद्र पहुंचे यूटा प्रदेश अध्यक्ष राजेंद्र राठौर ने बताया कि वर्तमान सरकार द्वारा भ्रष्टाचार पर शिकंजा कसने के सार्थक प्रयास किए जा रहे हैं. बेसिक शिक्षा विभाग में एक ही गद्दी पर काफी समय से जमे बाबू अधिकारियों की शय पर शिक्षकों का शोषण करते हैं. उन्होंने कहा कि शिक्षकों के प्रोन्नत वेतनमान का निर्धारण करने,एरियर बनाने व नवनियुक्त शिक्षकों का वेतन लगाने के बदले वसूली की जाती है. उन्होंने कहा कि जल्दी ही सरकारी एजेंसी के माध्यम से ऐसे बाबुओं व अधिकारियों को चिन्हित कर जेल भिजवाएंगे. इन पर शिकंजा कसना जरूरी है इसलिए यूनाइटेड टीचर असोसिएशन पूरे प्रदेश में ऐसे बाबुओं के बारे में शिक्षकों से वास्तविकता पता कर इनके खिलाफ अभियान चला रहा है.

यूपी में रिवर टूरिज्म को बढ़ाने के लिए IWAI से करार, गंगा में चलेगी रो-रो पैक्स

यूपी के कई जिलों में यूटा द्वारा यह कार्यवाही की जा चुकी है और भ्रष्टाचारियों को सलाखों के पीछे पहुंचाया जा चुका है. जल्द वाराणसी मंडल में भी पूरी टीम तैयार कर अभियान में तेजी लाई जाएगी. यूटा मंडल संयोजक नीरज राजपूत ने कहा कि शिक्षकों का शोषण नहीं सहा जाएगा. जिलाध्यक्ष औरैया ओमजी पोरवाल ने कहा कि यूटा टीम के आने के बाद उनके जिले में काफी हद तक भ्रष्टाचारियों पर लगाम लगी है और शिक्षक सकून से हैं. इस मौके पर सोनभद्र जिलाध्यक्ष शिवम अग्रवाल, अजय द्विवेदी, विकास सिंह व धर्मराज सिंह आदि मौजूद रहे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें