वाराणसी के सभी घाटों पर लगाए जा रहे स्मार्ट बोर्ड, जानिए क्या हैं खासियत

Smart News Team, Last updated: Tue, 15th Jun 2021, 11:02 AM IST
  • वाराणसी में स्मार्ट सिटी योजना के तहत सभी घाटों पर अब स्मार्ट बोर्ड लगाए जाएंगे, जो खुद उन घाटों का इतिहास बताएंगे. इन बोर्ड पर क्यूआर कोड भी होंगे जिनसे पर्यटक भिन्न भिन्न भाषाओं में घाटों से संबंधित सभी ऐतिहासिक जानकारी पढ़ व सुन पाएंगे.
वाराणसी के सभी घाटों पर स्मार्ट बोर्ड लगाए जा रहे है. ( सांकेतिक फोटो )

वाराणसी में स्मार्ट सिटी योजना के तहत सभी घाटों पर अब स्मार्ट बोर्ड लगाए जाएंगे जो खुद उन घाटों का इतिहास बताएंगे. यह बोर्ड आम बोर्ड नहीं होंगे होंगे. एक स्मार्ट बोर्ड का वजन ही 300 किलो हो सकता है. बता दें कि बारिश हो या बाढ़ आए ये बोर्ड खराब नहीं होंगे. इन स्मार्ट बोर्ड की खासियत होगी की इन पर क्यूआर कोड भी होंगे जिनसे पर्यटक भिन्न भिन्न भाषाओं में घाटों से संबंधित सभी ऐतिहासिक जानकारी पढ़ व सुन पाएंगे.

यह स्मार्ट बोर्ड लगाने के बाद वाराणसी सच में स्मार्ट सिटी दिखने लगेगी. वाराणसी के कुल 30 प्रमुख घाटों पर ये बोर्ड लगाए जायेंगे. स्मार्ट सिटी के पीआरओ शाकुंभरी नंदन बताते है कि अलग-अलग घाटों लग रहे इन 30 बोर्ड के अलावा अस्सी और राजघाट पर दो बड़े बोर्ड लगाए जाएंगे. जिन दोनों स्मार्ट बोर्ड पर वाराणसी के 84 घाटों के बारे में विस्तृत जानकारी होगी. इंग्लिश और हिंदी न जानने वालों के लिए इन बोर्ड में सुविधा दी गई है जिसमें क्यू आर कोड को स्कैन कर पर्यटक 80 से ज्यादा भाषाओं में घाटों के महत्व को अपने मोबाइल फोन पर सुन व देख पा सकेंगे.

वाराणसी में दिन दहाड़े चोरी, पुलिस ने छापेमारी में आरोपियों को धर दबोचा

बताया जा रहा है कि वाराणसी के घाटों पर लगने वाले इन स्मार्ट बोर्ड की एक खासियत यह भी होगी की ये स्मार्ट बोर्ड स्टेनलेस स्टील और कंक्रीट से तैयार किए गए है. जिससे आंधी हो या तूफान, बारिश हो बाढ़ इन स्मार्ट बोर्ड पर कोई फर्क नहीं पढ़ने वाला. इन स्मार्ट बोर्ड का आकार 300 किलो का व 7 फीट ऊंचा होगा. इसके अलावा बोर्ड पर घाटों के स्कैच भी उकेरे गए हैं. वाराणसी के दशाश्वमेघ घाट से इन्‍हें लगाने की शुरुआत कर दी गई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें