वाराणसी: सैलेरी में कटौती होने पर 45 स्टाफ नर्सों का सीएमओ कार्यालय पर प्रदर्शन

Smart News Team, Last updated: Tue, 1st Sep 2020, 8:09 PM IST
  • मंगलवार को सीएमओ कार्यालय पर स्टाफ नर्सों और पैरामेडिकल स्टाफ के द्वारा वेतन में कटौती होने पर धरना प्रदर्शन किया गया. कबीर चौरा स्थित मंडलीय अस्पताल में मार्च माह में बदली निजी एजेंसी ने इनके वेतन में कटौती कर दी. इसके बाद से पूरा स्टाफ काफी परेशान है.
सीएमओ कार्यालय पर प्रदर्शन करता स्टाफ नर्स और पैरामेडिकल स्टाफ.

 वाराणसी. वाराणसी के सीएमओ कार्यालय पर 45 स्टाफ नर्स और 10 पैरामेडिकल स्टाफ ने वेतन में कटौती के विरोध को लेकर धरना प्रदर्शन किया. कार्यालय पर स्टाफ नर्सों का धरना तीन घंटे तक चलता रहा. इसके बाद सीएमओ के तीन दिन के आश्वासन पर धरने को खत्म किया गया और उसके बाद स्टाफ काम पर लौटा.

दरअसल, शहर के कबीर चौरा स्थित मंडलीय अस्पताल में कार्यरत 45 स्टाफ नर्स और 10 पैरामेडिकल स्टाफ को निजी एजेंसी द्वारा 18 रुपये प्रतिमाह सैलरी दी जा रही थीं. यह निजी एजेंसी मार्च महीने में बदल दी गई जिसके बाद नई एजेंसी ने आने के स्टाफ नर्स के वेतन में कटौती कर दी. निजी एजेंसी ने स्टाफ नर्स का वेतन 7 हज़ार रुपये कर दिया. इससे नर्स स्टाफ पिछले पांच महीनों से काफी परेशान है.

सोनू सूद ने छह घंटे में निभाया अपना वादा, वाराणसी के नाविकों तक पहुंचाई मदद

इसके लिए पहले तो उन्होंने एजेंसी के मैनेजर को इसे वापस लेने के लिए कहा. लेकिन वहां से कोई प्रतिक्रिया नहीं आने के बाद उन्होंने कंपनी को पत्र लिखा. इसके बाद भी जब वेतन में कोई बदलाव नहीं हुआ तो मंगलवार को साफ नर्सों का गुस्सा फूट पड़ा. स्टाफ एकजुट होकर पहले मंडलीय अस्पताल में बैठे. इसके बाद सभी लोग पीएमओ कार्यालय पहुंच गए.स्टाफ नर्सों ने सीएमओ कार्यालय पर सुबह 11 बजे से लेकर 2 बजे तक धरना दिया.

धरने पर बैठे स्टाफ नर्स दीपक ने बताया कि प्रशासन की ओर से कंपनी को पूरा बजट दिया जा रहा है. इसके बाद भी हम लोगों की सैलरी में कटौती की जा रही है. सैलरी में कटौती होने से सभी लोग पिछले कई महीनों से काफी परेशान हैं.

वाराणसी: SDM की कोशिशें लाई रंग, रुके हुए सुलभ शौचालय का निर्माण शुरू

एक अन्य स्टाफ नर्स ने कहा कि कोरोना काल में हम लोग दिन रात मेहनत कर रहे हैं इसके बाद भी हमारी सैलरी में कटौती की जा रही है.

धरना प्रदर्शन के बीच में स्टाफ सीएमओ डॉक्टर वीबी सिंह से मिले। इस मामले में सीएमओ ने कहा कि तीन दिन में इस परेशानी का हल निकाला जाएगा. संबंधित कंपनी से बात की जाएगी और इस समस्या का समाधान किया जाएगा.

UP में वीकेंड लॉकडाउन खत्म, शनिवार को 12 घंटे खुलेगी दुकान, रविवार को बाजार बंद

इस दौरान 45 स्टाफ नर्सों के जाने से मंडलीय अस्पताल में समस्या पैदा हो गई. इस बीच अस्पताल में अन्य स्टाफ को लगाया गया ताकि अस्पताल में अव्यवस्था ना फैले. हालांकि धरना खत्म होने के बाद सभी लोग दोपहर तक वापस ड्यूटी पर आ गए थे.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें