वाराणसी गोरख यादव मर्डर: अंतिम संस्कार पूरा, तनाव के मद्देनजर पुलिस, PAC तैनात

Smart News Team, Last updated: 22/08/2020 08:54 PM IST
  • वाराणसी में अनिल उर्फ गोरख यादव का अंतिम संस्कार हो गया है. गोरख यादव के शव को पोस्टमार्टम के बाद भारी पुलिस बंदोबस्त के बीच घर लाया गया था और शाम में हरिश्चंद्र घाट पर दाह संस्कार किया गया. तनाव को देखते हुए भारी पुलिस बल और पीएसी तैनात है.
वाराणसी गोरख यादव मर्डर केस

 

वाराणसी. उत्तर प्रदेश के वाराणसी में हिस्ट्रीशीटर अनिल उर्फ गोरख यादव की हत्या के बाद लंका थाना क्षेत्र के मलहिया इलाके में गायत्री नगर और मारुति नगर में पसरे तनाव के बीच शव का अंतिम संस्कार हरिश्चंद्र घाट पर हो गया है. गोरख गायत्री नगर का रहने वाला था जबकि आरोपी रोशन द्विवेदी मारुति नगर का. दोनों के घर के बीच करीब आधा किलोमीटर की दूरी है जिसकी वजह से मृतक के समर्थकों की प्रतिक्रिया से रोशन के घर को बचाने के लिए पुलिस, पीएसी के जवान और वज्र वाहन की तैनाती की गई है.

शुक्रवार को वाराणसी के लंका थाना क्षेत्र में तीज की पूजा से पहले अनिल यादव मोमो खाने के लिए बाहर निकले थे. उसी दौरान उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गई. अनिल यादव की हत्या पार्किंग विवाद को लेकर हुई. हत्या से कुछ दिन पहले प्रधान संघ के नेता सोनू द्विवेदी के भाई रोशन द्विवेदी से गोरख यादव का झगड़ा हुआ था और तब गोरख ने रोशन और उसके साथियों को पीटकर भगा दिया था. इलाके के लोगों का कहना था कि मारपीट के दौरान रोशन को बिहारी और वापस बिहार भगा देने की बात गोरख ने कही थी और तब से ही रोशन मौके की ताक में था.

वाराणसी: गाड़ी पार्किंग विवाद में हिस्ट्रशीटर की गोली मारकर हत्या, आरोपी अरेस्ट

पोस्टमार्टम के बाद परिजन शव लेकर जैसे ही गायत्री नगर स्थित गोरख यादव के घर पहुंचे फिर से तनाव बढ़ने लगा था लेकिन लंका थाने की फोर्स और रैपिड एक्शन फोर्स तैनात कर दी गई थी जिसने माहौल को कंट्रोल किया. अनिल यादव के घर के पास ही आरोपियों का घर भी है जिस पर रात में ही हमला करने जा रहे गोरख समर्थकों को पुलिस ने रोक लिया था.

गोरख यादव मर्डर केस के आरोपी जेल गए, हरिश्चंद्र घाट पर दाह संस्कार

गोरख यादव की हत्या में नामजद रोशन द्विवेदी, विवेक और सूरज तीनों भाइयों को लंका पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. हालांकि, सबूत पूरा नहीं होने के कारण तीनों आरोपी आज भी जेल नहीं गए. कागजात पूरा होने के बाद न्यायालय में पेश किए जाएंगे.

गोरख के शव को लेकर परिजन हरिश्चंद्र घाट पहुंचे और अंतिम संस्कार किया. वहां भी इलाके के लोगों की भारी जुटान थी. एहतियात के तौर पर वहां भी पुलिस लगी थी. गोरख के बड़े भाई शशि ने मुखाग्नि दी. 

पहले से दोनों पक्ष में था झगड़ा, मर्डर केस में जमीन से जुड़े विवाद का जिक्र

गोरख यादव की हत्या के केस में गोरख के भाई सुनील यादव उर्फ करिया की शिकायत पर मर्डर केस दर्ज हुआ है. इस केस में जमीन से जुड़े विवाद को दोनों पक्षों के बीच झगड़ा की वजह बताया गया है. सुनील के मुताबिक उसकी जमीन पर चहारदीवारी का निर्माण हो रहा था तब रोशन और उसके घरवालों ने हमला किया था. यह भी बताया जा रहा है कि गायत्री नगर में ही एक जमीन पर कब्जे को लेकर गोरख ने तीनों भाइयों का विरोध किया था. पांच दिन पहले भी गोरख और रोशन के बीच गाड़ी सड़क पर खड़ी करने को लेकर विवाद की बात सामने आ रही है.

गोरख यादव के घर के पास पुलिस की तैनाती

इलाके में बनारस के लोकल और बाहर से आकर बसे लोगों के बीच आए दिन विवाद

इस इलाके में सिर्फ गोरख या रोशन के परिवार के बीच ही नहीं बाकी लोगों के बीच भी जमीन का विवाद होता रहता है. स्थानीय लोगों और बाहर से आकर बसे लोगों के बीच आए दिन कोई विवाद होता रहता है. सीर गोवर्धनपुर और आसपास बसी नई कॉलोनियों में ज्यादातर बाहर से आकर बसे लोग हैं. इस इलाके में बाहरी और बनारसी को लेकर तनातनी बनी रहती है.

 

अन्य खबरें